close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सुपर-30 विवाद : महागठबंधन में बगावत, HAM प्रवक्ता ने की राज्यपाल से जांच की मांग

हम प्रवक्ता डॉ. दानिश रिजवान ने सोमवार को राजभवन जाकर राज्यपाल से मुलाकात की.

सुपर-30 विवाद : महागठबंधन में बगावत, HAM प्रवक्ता ने की राज्यपाल से जांच की मांग
हम प्रवक्ता दानिश रिजवान ने राज्यपाल से की उच्चस्तरीय जांच की मांग. (तस्वीर- Facebook)

पटना : सुपर-30 के कथित फर्जीवाड़े के मामले में एक तरफ तेजस्वी यादव ने जहां कोचिंग के संस्थापक आनंद कुमार का बचाव किया है वहीं, जीतन राम मांझी की नेतृत्व वाली पार्टी मामला लेकर राजभवन पहुंच गई है. इस मामले में हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (हम) के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. दानिश रिजवान ने सोमवार को राजभवन जाकर राज्यपाल से मुलाकात की. उन्होंने राज्यपाल से सुपर-30 पर लगे आरोपों की जांच कराने का आग्रह किया.

उन्होंने राज्यपाल से कहा कि कोचिंग संचालकों द्वारा छात्रों का दोहन किया जा रहा है. यह गंभीर मामला है. इसकी गंभीरता से जांच होनी चाहिए. जाली टॉपर्स की सूची दिखाकर छात्रों को बरगलाया जा रहा है. दानिश ने राज्यपाल से कहा कि आपने शिक्षा के क्षेत्र में कई बड़ी पहल की है. कोचिंग के नाम पर चल रहे खेल पर भी ध्यान दिया जाए. इस मामले की उच्चस्तरीय जांच कराई जाए.

राज्यपाल का इस बात पर ध्यान आकृष्ट किया गया कि संस्थान के छात्रों के आइआइटी में चयन का दावा तो किया जा रहा है पर चयनित अभ्यर्थियों को सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है. यह छात्रों एवं उनके अभिभावकों के साथ धोखा है.

हाइकोर्ट में जनहित याचिका
पटना हाइकोर्ट में आनंद कुमार के सुपर-30 के खिलाफ जनहित याचिका दायर हुआ है. अधिवक्ता मणिभूषण सेंगर ने सीबीआई जांच करवाने के लिए सुपर-30 और रामानुजन क्लासेस के खिलाफ यह याचिका दायर की है. इतना ही नहीं, बिहार सरकार के खिलाफ भी याचिका दायर किया गया है.

स्थानीय समाचार पत्र ने लगाया जालसाजी का आरोप
सुपर-30 पर एक स्थानीय समाचार पत्र ने अन्य कोचिंग संस्थानों के बच्चों को सुपर-30 का बताने का आरोप लगाया है. आपको बता दें कि सुपर-30 के पूर्व छात्रों ने आरोप लगाया था कि अपनी लोकप्रियता को बढ़ाने के लिए आनंद कुमार ने जालसाजी और झूठ का सहारा लिया है.