व्यापार मेला: हैंड पेंटिंग से सजे बिहार पवेलियन ने लोगों को लुभाया

बिहार के चार प्रमुख शिल्पकला की हैंड पेंटिंग से सजा पूरे बिहार पवेलियन ने लोगों को जमकर लुभाया एवं यहां आने वाले हर कोई बिहार पवेलियन के तस्वीर को अपने कैमरे एवं मोबाइल के कैमरे में कैद करते नजर आए.

व्यापार मेला: हैंड पेंटिंग से सजे बिहार पवेलियन ने लोगों को लुभाया
बिहार पवेलियन ने लोगों को जमकर लुभाया.

पटना/नई दिल्ली: 39वें अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला के पहले दिन बिहार के चार प्रमुख शिल्पकला की हैंड पेंटिंग से सजा पूरे बिहार पवेलियन ने लोगों को जमकर लुभाया एवं यहां आने वाले हर कोई बिहार पवेलियन के तस्वीर को अपने कैमरे एवं मोबाइल के कैमरे में कैद करते नजर आए.

मंडप के केंद्र में टेरेकोटा कला से बने सात निश्चय वृक्ष के अंदर बिहार के चार मुख्य शिल्प कला-टेराकोटा, सिकी आर्ट, टिकुली आर्ट एवं स्टोन क्राफ्ट का जीवंत प्रदर्शन पवेलियन का मुख्य आकर्षण है.

दिल्ली के प्रगति मैदान में 14 से 27 नवम्बर तक चलने वाले अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में बिहार मंडप इस बार फोकस राज्य है एवं बिहार मंडप को इस बार आई.टी.पी.ओ. द्वारा इस वर्ष मेले की थीम 'इज ऑफ डुइंग बिजनेश' के अनुरुप नायाब रूप दिया गया है. 

इस वर्ष प्रगति मैदान के हाल नं 12 में बिहार मंडप लगाया गया है. बिहार सरकार के उद्योग विभाग द्वारा बिहार पवेलियन का क्रियान्वयन एजेंसी के रुप में लगातार छठी बार उपेन्द्र महारथी शिल्प अनुसंघान संस्थान को बिहार पवेलियन के आयोजन एवं सजाने संवारने की जिम्मेवारी दी गई है. 

उपेन्द्र महारथी शिल्प अनुसंघान संस्थान के निदेशक अशोक कुमार सिन्हा के निर्देशन में इवेंट कंपनी मोड इंटिरियर के गिरिश गुजराल व उनकी टीम बिहार पवेलियन को आकर्षक रूप दिया है.

बिहार सरकार के उद्योग विभाग के सचिव नर्मदेश्वर लाल ने बताया कि इस बार अन्तराष्ट्रीय व्यापार मेला का थीम 'इज ऑफ डुइंग बिजनेश' है एवं बिहार सरकार इज ऑफ डुइंग बिजनेश के मामले में अग्रणी राज्यों की श्रेणी में आता है जिसे हमने मेले के थीम के अनुरूप विभिन्न पैनलों के माध्यम से बिहार मंडप में दिखाने का बेहतर प्रयास किया है.