झारखंड में विकास कार्यों में सुरक्षाकर्मियों को लगाएंगे सीएम रघुवर दास

झारखंड में रघुवर दास सरकार ने कई वर्षों से नक्सलवाद के कारण प्रभावित हो रहे विकास को पटरी पर लाने की कोशिश के तहत विकास कार्यों में सुरक्षाकर्मियों को लगाने की योजना बनाई है।

झारखंड में विकास कार्यों में सुरक्षाकर्मियों को लगाएंगे सीएम रघुवर दास

रांची : झारखंड में रघुवर दास सरकार ने कई वर्षों से नक्सलवाद के कारण प्रभावित हो रहे विकास को पटरी पर लाने की कोशिश के तहत विकास कार्यों में सुरक्षाकर्मियों को लगाने की योजना बनाई है।

राज्य के ग्रामीण इलाकों में नक्सलवादियों ने सड़क एवं पुल आदि का निर्माण बाधित किया है। सरकार इन इलाकों में विकास कार्यों के लिए ढांचागत सुविधाओं के निर्माण में सुरक्षा कर्मियों को लगाएगी। सरकारी दस्तावेजों के अनुसार राज्य के 17 जिले अतिरिक्त केंद्रीय सहायता के तहत राशि प्राप्त करने के योग्य है लेकिन वित्त वर्ष 2013-14 में इनमें से कम से कम चार जिले ऐसे थे जो उन्हें दिए गए 30-30 करोड़ रुपये खर्च करने से लक्ष्य से चूक गए। इसका कारण अधिकतर इलाकों में नक्सलवाद का प्रभाव है।

पूर्ववर्ती हेमंत सोरेन सरकार में एक वरिष्ठ अधिकारी ने एक अगस्त 2014 को इन चारों जिलों के उपायुक्तो को पत्र जारी करके कहा था कि इस योजना के तहत किया जाने वाला विकास कार्य 2013-14 में संतोषजनक नहीं रहा। रघुवार दास के नेतृत्व में भाजपा की नई सरकार का कहना है कि केवल विकास से ही नक्सलवाद को समाप्त किया जा सकता है। छतरपुर निर्वाचन क्षेत्र से विधायक भाजपा के राधाकृष्ण किशोर ने कहा कि विकास कार्यों में सुरक्षा बलों को शामिल करना अच्छी बात है क्योंकि नक्सलवादी सड़कों एवं पुलों का निर्माण नहीं चाहते हैं। दरअसल इनके बनने से प्रशासन की पहुंच दूर दराज के इलाकों में बढ जाएगी।

भाजपा की एक अन्य विधायक विमला प्रधान ने कहा कि मेरे सिमडेगा निर्वाचन क्षेत्र में कोई उद्योग या खनिज संसाधन नहीं है, इसलिए लोग कृषि पर निर्भर है लेकिन वहां खेती के लिए स्थायी सिंचाई सुविधाओं का अभाव है जिसके कारण बेरोजगार युवकों को आसानी से भ्रमित किया जा सकता है।