हजारीबाग डीडीसी ने व्यक्ति की पिटाई के आरोप को किया सिरे से खारिज, कहा- वह भगदड़ में गिरा

हजारीबाग की उप विकास आयुक्त ने व्यक्ति की पिटाई के मामले के आरोप को सिरे से खारिज किया है. उन्होंने कहा कि पावर ब्लॉक पर गिरे युवक को जब चोटें आईं तो हमने तुरंत उसे इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया.

हजारीबाग डीडीसी ने व्यक्ति की पिटाई के आरोप को किया सिरे से खारिज, कहा- वह भगदड़ में गिरा
व्यक्ति पिटाई के मामले में हजारीबाग की DDC का बयान.

रांची: हजारीबाग की डिप्टी डेवलपमेंट कमिश्नर (DDC)  विजया जाधव के द्वारा एक व्यक्ति की पिटाई के आरोप के मामले में एक बयान सामने आया है. हजारीबाग डीडीसी विजया जाधव का ने बताया कि मैंने उसकी पिटाई नहीं की है वह भगदड़ में पावर ब्लॉक पर गिर पड़ा जिससे उसके चेहरे पर चोटें आई.

हजारीबाग की उप विकास आयुक्त ने व्यक्ति की पिटाई के मामले के आरोप को सिरे से खारिज किया है. उन्होंने कहा कि पावर ब्लॉक पर गिरे युवक को जब चोटें आईं तो हमने तुरंत उसे इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया. इतना ही नहीं हमें बाद में पता चला कि वह डायबिटीज का मरीज है और उसके खून में शुगर लेवल काफी हाई बताया जा रहा है तो हमने तुरंत उसे इंसुलिन का डोज दिलवाया.

व्यक्ति पिटाई के मामले में शक के घेरे में आईं हजारीबाग की डीडीसी ने आगे बताया कि उसे एक दिन अस्पताल में डॉक्टर की देख-रेख में रखवाया गया है. इसमें पिटाई का कोई मामला ही नहीं है. हमारी वहां चेकिंग चल रही थी. इसी बीच भगदड़ में वह गिर पड़ा और चोटिल हो गया. सारे कयास बेबुनियाद हैं.