चाय पीने के लिए क्वारंटाइन से निकल जाता था कोरोना मरीज, प्रशासन के उड़े होश

झारखंड में दूसरा कोरोना वायरस (Coronavirus) पॉजिटिव मरीज हजारीबाग से मिला था. इसके बाद से ही हजारीबाग वासियों में भय का माहौल है. लेकिन यहां हड़कंप तब और मच गया जब शहर वासियों को यह जानकारी मिली की उक्त मरीज क्वारेंटाइन के समय अस्पताल से निकलकर हजारीबाग का प्रसिद्ध झंडा चौक पर आता है और चाय पीता है.

चाय पीने के लिए क्वारंटाइन से निकल जाता था कोरोना मरीज, प्रशासन के उड़े होश
मरीज हर दिन क्वारंटाइन से निकलकर चाय पीने और लिट्टी चोखा खाने जाता था. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

हजारीबाग: झारखंड में दूसरा कोरोना वायरस (Coronavirus) पॉजिटिव मरीज हजारीबाग से मिला था. इसके बाद से ही हजारीबाग वासियों में भय का माहौल है. लेकिन यहां हड़कंप तब और मच गया जब शहर वासियों को यह जानकारी मिली की उक्त मरीज क्वारेंटाइन के समय अस्पताल से निकलकर हजारीबाग का प्रसिद्ध झंडा चौक पर आता है और चाय पीता है.

इतना ही नहीं, वह सदर अस्पताल के सामने की कई दुकानों से दवाइयों की खरीद भी करता है. साथ ही होटल में लिट्टी-चोखा खाता है. वहीं, इस बात का खुलासा खुद कोरोना पॉजिटिव मरीज ने ही किया. इसके बाद तब जाकर जिला प्रशासन हरकत में आया.

इधर, हजारीबाग सदर की अनुमंडल पदाधिकारी मेघा भारद्वाज ने कहा कि उक्त मरीज के संपर्क में आए लोगों की जांच जारी है. साथ ही एनाउंसमेंट भी कराया जा रहा है कि जो भी लोग मरीज को अस्पताल से बाहर जाने के क्रम में उनके संपर्क में आए हैं, वह खुद ही सामने आएं.

मेघा भरद्वाजा ने कहा कि अब जितने भी क्वारेंटाइन सेंटर हजारीबाग में बनाए गए हैं, उन सभी सेंटरों पर मजिस्ट्रेटों की नियुक्ति की गई है ताकि कोई भी मरीज क्वारेंटाइन सेंटर से बाहर निकलकर ना आने सके.