close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: बाढ़ की भयावह स्थिति के बाद स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह तैयार, लगाए गए राहत शिविर-कैंप

स्वास्थ्य प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा है कि महिलाओं के लिए विशेष इंतज़ाम किये गए है. प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए महिला डॉक्टर की व्यवस्था की गई है. सांप और बिच्छू काटे रोगियों के लिए दवाएं उपलब्ध है. जिला हॉस्पिटल को अलर्ट पर रखा गया है.

बिहार: बाढ़ की भयावह स्थिति के बाद स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह तैयार, लगाए गए राहत शिविर-कैंप
स्वास्थ्य प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा है कि महिलाओं के लिए विशेष इंतज़ाम किये गए हैं.

पटना: बिहार के 12 जिलों में बाढ़ की स्थिति भयावह हो चुकी है. नेपाल के तराई इलाके और उत्तर बिहार में बारिश के कारण राज्य के विभिन्न जिलों में बाढ़ का संकट और गहरा गया है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य के 12 जिलों के 78 प्रखंडों के 555 पंचायतों में बाढ़ से हालात गंभीर हो चुके हैं, जिससे 25 लाख से ज्यादा की आबादी प्रभावित है. 

स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि बिहार में बाढ़ और बाढ़ के बाद कि हर स्थिति से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग तैयार है. बाढ़ राहत शिविर में डॉक्टरों की तैनाती की गई है.

स्वास्थ्य प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा है कि महिलाओं के लिए खासकर विशेष इंतज़ाम किये गए है. प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए महिला डॉक्टर की व्यवस्था की गई है. सांप और बिच्छू काटे रोगियों के लिए दवाएं उपलब्ध है. जिला हॉस्पिटल को अलर्ट पर रखा गया है.

स्वास्थ्य प्रधान सचिव संजय कुमार ने  यह बात विटामिन ए खुराक अभियान कार्यक्रम में कहा. दरअसल स्वास्थ्य मंत्री विटामिन ए खुराक अभियान की शुभारम्भ करने पहुंचे थे. पटना के गर्डिनर हॉस्पिटल में अभियान की शुरुआत की गई. 22 जुलाई तक 9 महीने से 5 साल तक के बच्चे को विटामिन ए की खुराक दिलाई जाएगी. अभियान के तहत 1.64 करोड़ बच्चे को खुराक दिलाने का लक्ष्य है.