इंतजार हुआ खत्म, Bokaro में इस शख्स को लगा पहला Corona का Vaccine

Bokaro Corona vaccination: बोकारो जिले में भी पहले दिन बोकारो सदर अस्पताल स्थित एएनएम प्रशिक्षण केंद्र तथा चंदनकियारी स्वास्थ्य केंद्र में जिले से टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई. टीकाकरण अभियान के चलते पहला टीका स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया गया, जिसके बाद डॉक्टर और चिन्हित स्वास्थ्य कर्मियों को भी कोविड का टीका दिया गया.

 इंतजार हुआ खत्म, Bokaro में इस शख्स को लगा पहला Corona का Vaccine
बोकारो में स्वास्थ्य कर्मियों को सबसे पहले टीका दिया गया (तस्वीर साभार-एएनआई)

मृत्युंजय मिश्रा/बोकारो: कोरोना वैक्सीन  (Corona Vaccine) के टीकाकरण का इंतजार खत्म हो गया है, गुरुवार को दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण पूरे देश में चलाया गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इस टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया. वहीं, बोकारो में स्वास्थ्य कर्मियों को सबसे पहले टीका दिया गया.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के खात्मे को लेकर सरकार पूरी तरह से गंभीर है. इसी के मद्देनजर आज पूरे देश में टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई. देश स्तरीय टीकाकरण अभियान की लॉन्चिंग जहा आज हो गई. वहीं, बोकारो जिले में भी पहले दिन बोकारो सदर अस्पताल स्थित एएनएम प्रशिक्षण केंद्र तथा चंदनकियारी स्वास्थ्य केंद्र में जिले से टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई. टीकाकरण अभियान के चलते पहला टीका स्वास्थ्य कर्मियों को लगाया गया, जिसके बाद डॉक्टर और चिन्हित स्वास्थ्य कर्मियों को भी कोविड का टीका दिया गया.

जानकारी के अनुसार, विकास आयुक्त जयकिशोर प्रसाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चंदनकियारी की देखरेख में टीकाकरण किया गया. बोकारो उपायुक्त का कहना है कि 'अभी हमारे पास 10 हजार 7 सौ वैक्सीन है और करीब 11 हजार लोगों को वैक्सीन देना है. यह सप्ताह में 4 दिन तक चलेगा'. उन्होंने कहा कि 'आगे जैसे सरकार का निर्देश मिलेगा उसके अनुसार काम किया जाएगा'.

इससे पहले शुक्रवार को स्वास्थ मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार में दो तरह की वैक्सीन उपलब्ध है. भारत बायोटेक और सीरम कंपनी की वैक्सीन उपलब्ध है. पटना के मेडिकल कॉलेज हास्पिटल में कोवैक्स वैक्सीन दिये जाएंगे. जबकि बांकी के जिलों में कोविशील्ड वैक्सीन दी जाएगी. केन्द्र सरकार की तरफ से 54 हजार 9 सौ वायल कोवीशील्ड उपलब्ध कराये गये हैं जबकि एक हजार वायल कोवैक्स वैक्सीन उपलब्ध कराये गये हैं. एक वायल  कोविशील्ड से दस डोज वैक्सीन लोगों को दिये जा सकते हैं. जबकि कोवैक्स के एक वायल से 20 डोज दिये जाएंगे. कोविन पोर्टल पर दिये गये पहचान पत्र के सत्यापन के बाद ही लाभार्थियों को टीकाकरण कक्ष में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी. टीकाकरण के 30 मिनट बाद तक लाभार्थियों को टीकाकरण अधिकारी की निगरानी में रहना पड़ेगा. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना टीका पूरी तरह से सुरक्षित है.