close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार में बारिश का कहर, 18 की मौत, अलर्ट पर NDRF, SDRF की टीमें

राज्य सरकार जिलों से रिपोर्ट तलब कर रही है. अब तक कुल 18 लोगों की मौत की पुष्टि सरकार ने की है.

बिहार में बारिश का कहर, 18 की मौत, अलर्ट पर NDRF, SDRF की टीमें
भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: मंगलवार रात हुई तेज बारिश और आंधी ने बिहार में कहर बरपाया है. सूखे की मार झेल रहे बिहार के किसानों के लिए राहत की बूंदें जरुर गिरे, लेकिन वज्रपात ने कई घरों में मातम फैला दिया है. पूरे बिहार से वज्रपात से मरने वालों की खबरें आ रही हैं. राज्य सरकार जिलों से रिपोर्ट तलब कर रही है. अब तक कुल 18 लोगों की मौत की पुष्टि सरकार ने की है.

गया और कैमुर में सबसे अधिक तीन-तीन लोगों की मौत हुई है. वहीं, पटना, अरवल, भोजपुर, सीवान और मोतिहारी में 2-2 लोगों की मौत वज्रपात के कारण हुई है. कटिहार और जहानाबाद में भी एक-एक की जान गई है. राज्य सरकार मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए की राशि देगी. इसकी घोषणा कर दी गई है. आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक, बिहार के विभिन्न जिलों से मृतकों की रिपोर्ट ली जा रही है.

वहीं, मौसम वैज्ञानिक आनंद शंकर ने अलर्ट जारी किया है. नेपाल में भारी बारिश का अलर्ट विभाग की ओर से जारी किया गया है. उन्होंने कहा कि अगले दो दिनों तक मौसम का मिजाज इसी तरह से बना रहेगा. नेपाल और नेपाल की तराई में तेज बारिश होगी. आनंद शंकर ने कहा है कि इससे नदियों का जल स्तर बढ़ जाएगा. एक तरीके से बाढ़ की स्थिति बनी हुई है.

बिहार में मानसून की बारिश ने तबाही मचा दी है. एक बार फिर उत्तर बिहार के जिलों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. अब तक रिकार्ड बारिश दर्ज की गई है. तेज बारिश का आलम यह है कि कहीं-कहीं 172 एमएम की बारिश दर्ज की गई है. आने वाले दो दिनों में और बारिश का अनुमान है. आनंद शंकर ने कहा है कि दक्षिण बिहार के जिला जहां सूखे की मार पड़ी है, वहां भी बारिश होगी.

अलर्ट को लेकर राज्य सरकार ने कमर कस ली है. बिहार सरकार बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें तैनात कर दी है. आपदा प्रबंधन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, एनडीआरएफ की आठ टीम तैनात की गई है. बक्सर और भागलपुर में दो-दो, पटना के बख्तियारपुर, भोजपुर, सोनपुर, हाजीपुर में एक-एक टीम तैनात की गई है. अलर्ट को देखते हुए पूरी बटालियन को अलर्ट पर रखा गया है. बिहटा की टीम जरूरत के हिसाब से कहीं भी मूवमेंट करेंगी.

वहीं, राजधानी पटना के कई वीआईपी इलाके में जलजमाव है. घरों में पानी घूस गए हैं. आम जनजीवन अस्त-व्यस्त है. स्कूल, कॉलेज और ऑफिस जाने वाले लोग परेशान हैं.