close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार में अगले 72 घंटों में होगी मूसलाधार बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट

मौसम विभाग के मुताबिक पूर्णियां, कटिहार, वैशाली, बांका, भागलपुर, बक्सर और भोजपुर में 12-20 सेंटीमीटर की वर्षा होगी. मौसम विभाग के उपनिदेशक के मुताबिक बिहार के लोगों को भयवित होने की जरुरत नहीं है. 

बिहार में अगले 72 घंटों में होगी मूसलाधार बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट
मुजफ्फरपुर, वैशाली, सीतामढ़ी, समस्तीपुर, प चंपारण, पू चंपारण, गोपालगंज, में भारी बारिश का पूर्वानुमान है.

पटना: सूबे के उत्तर बिहार में बाढ़ का खतरा तेज हो गया है. दर्जनभर से अधिक जिलो में मूसलाधार बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है. अगले दो दिनों तक मूसलाधार बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया है. बारिश से नदियों का जल स्तर बढ़ सकता है. उत्तर बिहार के जिलों की अबादी इस बाढ़ की चपेट में है. मौसम विभाग से जारी अलर्ट को लेकर सूबे की सरकार तैयारी में जुट गई है. जारी अलर्ट के मुताबिक उत्तर बिहार में अगले 72 घंटे में मूसलाधार बारिश होगी. 

मुजफ्फरपुर, वैशाली, सीतामढ़ी, समस्तीपुर, प चंपारण, पू चंपारण, गोपालगंज, में भारी बारिश का पूर्वानुमान है. मौसम विभाग के मुताबिक पूर्णियां, कटिहार, वैशाली, बांका, भागलपुर, बक्सर और भोजपुर में 12-20 सेंटीमीटर की वर्षा होगी. मौसम विभाग के उपनिदेशक के मुताबिक बिहार के लोगो को भयवित होने की जरुरत नहीं है. 

आनंद शंकर ने कहा है कि आम लोग सचेत रहें. सभी नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से उपर बह रहा है. ऐसे में राज्य सरकार को विशेष अलर्ट रहने की आवश्यकता है. सूखे प्रभावित जिलों की बात पर उन्होंने कहा है कि तमाम जिलों में बारिश हो रही है. नालंदा, नवादा, लखीसराय, गया, औरंगाबाद, अरवल, जहानाबाद में अच्छी बारिश हो रही है. यह अलगे कुछ घंटे तक होता रहेंगा.इन जिलों में हो रहीं बारिश आगे बढ़कर वैशाली समस्तीपुर में जाकर मुसलाधार हो जाएगी.

 

सरयू, गंगा व सोन नदी के मिलन से रिविलगंज प्रखंड के पूरे इलाके में आई बाढ़ से लोग त्राहिमाम हैं. लोग जैसे-तैसे सुरक्षित जगह व तटबंध पर आकर खुले आसमान के नीचे गुजर-बसर कर रहे हैं. न ही कोई आशियाना रहा न ही ठीक से खाना. बाढ़ ने सबकुछ तहस-नहस कर दिया. मवेशियों के लिए भी कोई चारा नहीं रहा. खेत के फसलें भी बाढ़ में बर्बाद हो गयी है. इसको लेकर छपरा के समाजसेवी धर्मेंद्र सिंह के द्वारा सिताबदियारा में कैम्प लगाया गया. कैम्प के माध्यम से बाढ़ पीड़ितों के बीच राहत सामग्री बांटा गया. 

जिन पीड़ित कैम्प पहुंचने में असक्षम थे, उनको नाव द्वारा राहत सामग्री पहुंचाया गया. सिताबदियारा के बड़की बैजू टोला, गरीबा राय के टोला, चैन छपरा, दक्षिणवारी चक्की, लाला राय के टोला व अन्य गांवों के पीड़ितों में भोजन का पैकेट, सीलबंद बोतल की पानी, माचिस, मोमबत्ती व अन्य जरूरी सामग्री वितरण किया गया. 

समाजसेवी ने कहा कि बाढ़ पीड़ितों को राहत पहुंचाने का काम जलस्तर घटने तक लगातार जारी रहेगा. साथ ही समाजसेवा से जुड़े लोगों को भी बाढ़ में फंसे पीड़ितों को मदद करने के लिए आगे हाथ बढ़ाने को कहा. साथ ही जिला प्रशासन को भी  सहयोग करने की बात कही.

बाढ़ के बींच बाढ़ विधानसभा सीट से भाजपा विधायक गायब बताए जा रहे है. पोस्टर के जरीए उनके गायब होने की खबर है. दरअसल, भीषण बाढ़ झेल रहें लोगों ने उन्हें बाढ़ से गायब होने का पोस्टर लगाया है.यह इसलिए किया गया है कि वेबाढ़ पीड़ितो के बींच नहीं पहुंच रहे है. गायब विधाय ज्ञानेन्द्र सिंह ज्ञानू पर इनाम की राशि रखी गई है. खोजने वालो को 101 रुपए दिया जाएगा.