close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मधुबनी में गहराया जल संकट, महिलाओं ने पानी की समस्या को लेकर दिया धरणा

जिला मुख्यालय से सटे भौआड़ा पंचायत की दर्जनों महिलाएं पानी की समस्या को लेकर समाहरणालय पहुंचे और डीएम से मुलाकात करने का प्रयास किया लेकिन घंटो प्रतीक्षा के बाद जब डीएम कार्यालय नहीं पहुंचे तो वे लोग निराश होकर गेट पर बैठ गए. 

मधुबनी में गहराया जल संकट, महिलाओं ने पानी की समस्या को लेकर दिया धरणा
डीएम ने पानी की समस्या को शीघ्र दूर करने का आश्वासन दिया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मधुबनी: बिहार के मधुबनी जिले में जल संकट गहरा गया है. अधिकांश तालाब और चापाकल सूख गए हैं. जिला मुख्यालय से सटे भौआड़ा पंचायत की दर्जनों महिलाएं पानी की समस्या को लेकर समाहरणालय पहुंचे और डीएम से मुलाकात करने का प्रयास किया लेकिन घंटो प्रतीक्षा के बाद जब डीएम कार्यालय नहीं पहुंचे तो वे लोग निराश होकर गेट पर बैठ गए. 

इसी दौरान डीएम का एक कर्यक्रम में पहुँचने की सूचना मिली सभी महिला कार्यक्रम स्थल पर पहुचकर डीएम से मिलकर पानी की समस्या के बारे में बताई. महिलाओं की मानें तो भौआड़ा पंचायत में तकरीबन बीस दिनों से पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है. पानी की समस्या की वजह से बच्चों की शादी नहीं हो रही है. 

 

कई बार मुखिया और बीडीओ को जलसंकट के बारे में बताया गया लेकिन समस्या का हल नहीं हो सका. हालांकि डीएम ने पानी की समस्या को शीघ्र दूर करने का आश्वासन दिया और आपदा विभाग के साथ -साथ पीएचईडी के अधिकारीयों को शीघ्र उस इलाके में जाकर समस्या हल करने का निर्देश दिया. कई ट्रॉली से शहरी क्षेत्रों में घर -घर पानी पहुंचाया जा रहा है जो ऊँट की मुंह में जीरा वाली कहावत चरितार्थ कर रही है.

 बहरहाल जल संकट से नगरपरिषद समेत ग्रामीण क्षेत्रों की लाखों की आबादी प्रभावित है. दर्जनों टंकी सुख गया है और पानी टैंक तक नहीं पहुँच पार रही है,दर्जनों तालाब सुख गया है. बच्चे भीषण गर्मी से निजात पाने के लिए तालाब में डुबकियां लगा रहे हैं.