श्रमिकों को लेकर हेमंत सरकार गंभीर, हर हाथ को देगी काम: सत्यानंद भोक्ता

उन्होंने कहा कि, एमओयू के बाद मजदूर भेजे जाएंगे. इसके लिए विभाग तैयारी जुटा है. मजदूरों के रहने-खाने से लेकर सुरक्षा का भी खयाल रखा जाएगा.

श्रमिकों को लेकर हेमंत सरकार गंभीर, हर हाथ को देगी काम: सत्यानंद भोक्ता
श्रमिकों को लेकर हेमंत सरकार गंभीर, हर हाथ को देगी काम: सत्यानंद भोक्ता. (फाइल फोटो)

रांची: झारखंड की हेमंत सोरेन (Hemant Soren) सरकार में श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने कहा है कि, हमारी सरकार अपने मजदूर भाइयों के लिए गंभीर है. सरकार हर हाथ को काम देगी, इसके लिए योजना पर कार्य किया जा रहा है. मंत्री ने कहा कि, भारत-चीन बॉर्डर (India-China Border) पर सड़क निर्माण के लिए 12 हजार के करीब मजदूर भेजे जाएंगे.

उन्होंने कहा कि, एमओयू (MOU) के बाद मजदूर भेजे जाएंगे. इसके लिए विभाग तैयारी जुटा है. मजदूरों के रहने-खाने से लेकर सुरक्षा का भी खयाल रखा जाएगा. मंत्री ने कहा कि, श्रम विभाग श्रमिकों का डाटा तैयार कर रहा है और उनके हुनर के आधार पर हमारी सरकार उनको काम देगी.

उन्होंने कहा कि, सरकार के पास दूसरे राज्यों में काम के लिए जाने वाले मजदूरों का भी डाटा होगा. केंद्र सरकार के द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए विभाग आगे बढ़ रहा है. झारखंड के श्रमिक देश की आर्थिक गतिविधि को बढ़ाने में कदम से कदम मिलाकर चलने को तैयार हैं.

बता दें कि, लॉकडाउन (Lockdown) के कारण कई उद्योग-धंधे बंद हो गए हैं. ऐसे में बड़ी संख्या प्रवासी श्रमिकों की झारखंड में वापसी हुई है. इसी क्रम में, उन तमाम प्रवासी श्रमिकों (Migrants Labours) को हेमंत सरकार राज्य में काम दिलाने का प्रयास कर रही है, ताकि मजदूरों को काम के सिलसिले में झारखंड के बाहर न जाने पड़े.