मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी उठापटक पर बोले हेमंत सोरेन- इसमें मुख्य रोल BJP का है

मध्यप्रदेश में चल रहे सियासी उठापटक के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होने के बाद झारखंड की सियासत में भी एमपी की शोर सुनाई दे रहा है.

मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी उठापटक पर बोले हेमंत सोरेन- इसमें मुख्य रोल BJP का है
सीएम हेमंत सोरेन ने कहा है कि एमपी में जो घटनाक्रम चल रहा है वो पहला उदाहरण नहीं है.

रांची: मध्य प्रदेश में चल रहे सियासी उठापटक के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होने के बाद झारखंड की सियासत में भी एमपी की शोर सुनाई दे रहा है.

सीएम हेमंत सोरेन ने कहा है कि एमपी में जो घटनाक्रम चल रहा है वो पहला उदाहरण नहीं है. ऐसे कई उदाहरण देश मे देखने को मिले हैं और इसमें मुख्य रोल बीजेपी ही अदा करती है. जो पार्टी सूचिता की बात करती है. वहीं, पार्टी इस तरीके से चीजों को आगे बढ़ा रही है. इससे अंदाजा लगा सकते हैं राजनीती का स्तर किस ओर जा रहा है. अभी तो पूरी चीजें एमपी को लेकर होना बाकी है.

कांग्रेस कोटे के मंत्री बादल ने इस घटनाक्रम पर कहा कि एमपी में जो घटना घटी है वो दुर्भाग्यपूर्ण है. कांग्रेस ने सिंधिया और सिंधिया परिवार को जितना भी दिया कहीं से कम नहीं है. ऐसे समय मे जब देश में राजनीतिक अस्थिरता का माहौल है ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे व्यक्ति का इस तरह से षड्यंत्र में फंस जाने बीजेपी की सोची-समझी साजिश है.

उन्होंने कहा कि जब देश में जनता से बीजेपी जनादेश नहीं ले पा रही तब इस तरह के तिकड़म लगा रही है. वहीं, मंत्री मिथलेश ठाकुर ने कहा है कि बीजेपी राजनीति के स्तर को कहां तक ले जा रही है ये पराकाष्ठा है और सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश के लिए खतरे की घंटी है. पूरी तरह से अब मोल भाव और खरीद फरोख्त की ही राजनीति में बीजेपी को भरोसा है.

कांग्रेस विधायक दल नेता और मंत्री आलमगीर आलम ने कहा, एमपी की हालत सबको मालूम है.  इतना ही कहेंगे कांग्रेस बड़ी पार्टी है लोगों का आना जाना लगा रहता है. मुझे नहीं लगता किसी व्यक्ति के जाने से किसी पार्टी को खास नुकसान होगा.

वहीं, बीजेपी ने कहा है कि कांग्रेस के लोग अब वहां रहना नहीं चाहते हैं. कांग्रेस अब अछूत पार्टी बनती जा रही है. उनके साथ भी कोई दल ज्यादा दिन तक नहीं रहेगा. झारखंड में भी कांग्रेस का इतना दबाव बढ़ गया है कि आने वाले कल में हेमंत उनके साथ नहीं रहेंगे. ऐसा भी देखने को मिलेगा की जेएमएम से कांग्रेस अलग होगी या जेएमएम कांग्रेस को अलग करेगा.