झारखंड: हेमंत सोरेन ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, बोले- एक बार फिर दिखी हिटलरशाही

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार की हिटलरशाही एक बार फिर दिखी है. केंद्र से पत्र मिला है कि डीवीसी का पैसा नहीं देने पर राज्य सरकार को केंद्र से मिलने वाली सहायता से ही राशि काटी जाएगी.

झारखंड: हेमंत सोरेन ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, बोले- एक बार फिर दिखी हिटलरशाही
हेमंत सोरेन ने कहा है कि केंद्र सरकार की हिटलरशाही एक बार फिर दिखी है. (फाइल फोटो)

रांची: झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार की हिटलरशाही एक बार फिर दिखी है. केंद्र से पत्र मिला है कि डीवीसी का पैसा नहीं देने पर राज्य सरकार को केंद्र से मिलने वाली सहायता से ही राशि काटी जाएगी.

हेमंत सोरेन ने आगे कहा कि इसका अर्थ यह है कि उन्हें आने की जरुरत नहीं है, हमारे कम्पनशेषन से ही काट लेगें. सबसे खास बात ये है कि ये एग्रीमेंट भी पूर्व मुख्यमंत्री रघुबर दास ने  2017 में ही कर रखा है कि अगर राज्य सरकार पैसे नहीं चुकाती है तो केंद्र काट लेगा.

सीएम ने कहा कि ये एग्रीमेंट भी पिछली सरकार के लोगों ने कर रखा है. हम लोग देख रहे हैं ,अपने अधिकार की लड़ाई हर स्तर पर लड़ेगें. देश के संघीय ढांचे को इन लोगों ने पूरी तरह तार-तार कर रखा है. किसान बिल देख लीजिए आप. अब किसान ने हत्या करना शुरू कर दिया है.

आपको बता दें कि पहले भी कई मौकों पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, केंद्र की नीतियों के खिलाफ खुलकर बोल चुके हैं. सोमवार को ही झारखंड सरकार द्वारा लागू नियोजन नीति को चुनौती देने वाली याचिका पर झारखंड हाइकोर्ट ने सोमवार को महत्वपूर्ण फैसला सुनाते हुए राज्य सरकार के फैसले को गलत करार देते हुए अनुसूचित जिलों में नियुक्त शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को रद्द करने का आदेश दे दिया जिसके बाद उन्होंने रघुवर दास और उनकी पिछली सरकार पर निशाना साधा. 

सीएम हेमन्त सोरेन ने कहा शिड्यूल्ड एरिया में गवर्नर के हाथों से बदलाव कर 11- 13 जिलों में बांट कर राज्य को दो हिस्सों में बांटने की तैयारी थी. राज्यपाल महोदय ने भी इस पर कोई संज्ञान नहीं लिया नतीजा हुआ मामला कोर्ट में गया. कोर्ट  ने आज खारिज किया, अब ये भी चुनोती सामने आएगी.