close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना यून‍िवर्स‍िटी के छात्र संघ दफ्तर में ह‍िटलर की फोटो, बवाल बढ़ा तो गांधी जी की तस्‍वीर लगाई

पटना यून‍िवर्स‍िटी के छात्र संघ कार्यालय में तस्‍वीर की इस अदला बदली के बीच बड़ा बवाल उठ खड़ा हुआ है. हिटलर की तस्वीर के मामले पर छात्रसंघ दो गुट में बंट गया है. विश्वविद्यालय प्रशासन ने अब इस मामले में कार्रवाई की बात कही है.

पटना यून‍िवर्स‍िटी के छात्र संघ दफ्तर में ह‍िटलर की फोटो, बवाल बढ़ा तो गांधी जी की तस्‍वीर लगाई
हिटलर की तस्‍वीर लगाने के मामले में अब प्रशासन कह रहा है कि वह कार्रवाई करेगा.

पटना: बिहार की राजधानी पटना में यूनिवर्सिटी छात्र संघ दफ्तर में जर्मनी के तानाशाह एडोल्फ हिटलर की तस्वीर लगाई गई थी. हालांकि विवाद के बाद अब ये तस्वीर हटा ली गई है. उसकी जगह महात्‍मा गांधी की तस्‍वीर लगा दी गई. लेकिन तस्‍वीर की इस अदला बदली के बीच बड़ा बवाल उठ खड़ा हुआ है. हिटलर की तस्वीर के मामले पर छात्रसंघ दो गुट में बंट गया है. विश्वविद्यालय प्रशासन ने अब इस मामले में कार्रवाई की बात कही है.

हालांकि हिटलर जैसे नेताओं की तस्‍वीर लगाने की बात थोड़ी अटपटी और विवादास्‍पद लग सकती है, लेकिन पटना यूनिवर्सिटी में ये सब हुआ है. पटना यूनिवर्सिटी में कुलपति के दफ्तर से महज 100 मीटर की दूरी पर स्थित पटना यूनिवर्सिटी छात्र संघ कार्यालय में एडोल्फ हिटलर की तस्वीर कुछ दिन पहले लगाई गई थी.

छात्र संघ कार्यालय में लालू यादव, सुभाष चंद्र बोस की भी तस्वीर है और ठीक इसके बगल में ही जर्मनी के तानाशाह हिटलर की तस्वीर लगा दी गई. हालांकि छात्र संघ कार्यालय में देश के बड़े नेताओं और पटना यूनिवर्सिटी से संबंद्ध नेताओं की भी तस्वीर लगाई गई थी. लेकिन हिटलर की तस्‍वीर ने उबाल ला दिया. विवाद बढ़ा तो हिटलर की तस्वीर हटा ली गई. जिस जगह हिटलर की तस्वीर थी ठीक उसी जगह महात्मा गांधी की तस्वीर लगा दी गई.

विश्वविद्यालय छात्रसंघ के महासचिव मणिकांत मणि के मुताबिक, उन्होंने हिटलर की तस्वीर लगाई गई है. मणिकांत मणि के मुताबिक, सिर्फ हिटलर की फोटो नहीं लगी है. मैं पूछना चाहता हूं कि लेनिन ने इस देश के लिए क्या किया. स्टालिन ने क्या किया. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में में जिन्ना की तस्वीर लग गई. उस पर खामोशी थी. हम राष्ट्रवादी हैं. हम पढ़े तो हमें अच्छा लगा. मैंने फोटो लगाया. हर व्यक्ति को हिटलर की तरह अपने देश के प्रति वफादार होना चाहिए. गांधी जी को मैं संत के समान मानता हूं. हालांकि राजनीतिक रूप से गांधी से सहमत नहीं हूं. दूसरी बात ये तस्वीर 15 दिन पहले से लगी है.

मणि‍ ने कहा, लोग नेहरू की तस्वीर की मांग कर रहे थे. लेकिन मैं नेहरू के सिद्धांत को नहीं मानता हूं. कुछ छात्रों के मुताबिक, ये तस्वीर 15 दिन पुरानी है. पटना यूनिवर्सिटी के कुलपति रासबिहारी प्रसाद सिंह के दफ्तर से छात्रसंघ का दफ्तर महज 100 मीटर की दूरी पर है लेकिन यूनिवर्सिटी इससे अनजान रही. यूनिवर्सिटी को हिटलर की तस्वीर मामले में छात्रों ने एक चिट्ठी लिखी है. यूनिवर्सिटी के डीन नागेंद्र कुमार झा के मुताबिक, पटना विश्वविद्यालय में हिटलर की तस्वीर की बाबत एक लि‍खि‍त रिप्रेंजेटेशन मिला है. इसकी तहकीकात की जा रही है. निश्चित रूप से छात्रसंघ से भूल हुई है. इस पर सख्त कार्रवाई करेंगे. बिना विश्वविद्यालय की अनुमति के किसी प्रकार की तस्वीर लगाना अनुचित है. छात्र संघ की जिम्मेदारी छात्रों की समस्या को सुलझाने में सहयोग देने की होती है, लेकिन जिस तरह एडोल्फ हिटलर की तस्वीर लगाई गई उससे कई सवाल खड़े होते हैं. अब देखना होगा कि इस मामले में क्या कार्रवाई यूनिवर्सिटी प्रशासन करता है.