close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

समस्तीपुर में लोग बूंद-बूंद को हुए मोहताज, निजी बोरिंग पर टिकी लोगों की आस

जिले के कई प्रखंडो के लोग बूंद-बूंद पानी के लिए मोहताज हो गए हैं. सरकारी नलकूप शोभा की वस्तु बन लोगो को मुंह चिढ़ा रही है. वहीं, निजी बोरिंग के भरोसे लोग प्यास बुझाने को मजबूर है. 

समस्तीपुर में लोग बूंद-बूंद को हुए मोहताज, निजी बोरिंग पर टिकी लोगों की आस
निजी बोरिंग के भरोसे लोग प्यास बुझाने को मजबूर हैं.

समस्तीपुर: बिहार के समस्तीपुर में लगातार दो महीनों से भीषण गर्मी के कारण तालाब, नदी, नलकूप सूखने से जलसंकट गहराने लगा है. जिसके कारण जिले के कई प्रखंडो के लोग बूंद-बूंद पानी के लिए मोहताज हो गए हैं. सरकारी नलकूप शोभा की वस्तु बन लोगो को मुंह चिढ़ा रही है. वहीं, निजी बोरिंग के भरोसे लोग प्यास बुझाने को मजबूर है. 

पानी की समस्या को लेकर कुछ जगहों पर लोग सड़क पर उतर आए हैं. लोगों ने आगजनी और प्रदर्शन भी किया. जिसके बाद प्रशासन की ओर से उन जगहों पर पानी के टैंकर की व्यवस्था जरूर दी गई. लेकिन जिले के बाकि हिस्सों में लोगों को हर दिन पानी को लेकर लोग सरकारी व्यवस्था को कोस रहे हैं. 

 

सरसयरंजन प्रखंड में पानी की समस्या से जूझ रहे लोगों का कहना है कि सरकारी स्तर पर लगे ज्यादातर चापाकल खराब पड़े हैं. निजी चापाकलों ने पानी देना बंद कर दिया है. इस इलाके में नल जल योजना भी अब तक शुरू नहीं हो सकी है. नतीजा लोग सुबह उठकर हाथों में पानी की बाल्टी और डब्बे लेकर निजी बोरिंग की तरफ भागते हैं. पानी के कारण आम जन जीवन के साथ साथ मवेशियों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है और खेत भी सूखने लगे हैं. 

भीषण गर्मी में बूंद-बूंद पानी को लेकर परेशान लोगों को स्थानीय स्तर पर चालू एक-दो बोरिंग का ही सहारा बचा है. लोग सुबह से ही बोरिंग पर पानी के लिए लम्बी कतार लगा देते है. जिस कारण बोरिंग मालिक भी अब परेशान हो चले है. 

वहीं, जिले में पानी की समस्या को लेकर उप विकास आयुक्त का कहना है की पीएचईडी विभाग को बंद पड़े चापाकल को तुरंत चालू करने का निर्देश दिया गया है और पीएचईडी विभाग के द्वारा चिन्हित 300 में से 100 चापाकलों को ठीक करा दिया गया है. वैसे पंचायतो में जहां स्थिति ज्यादा ख़राब है वहाँ टैंकर के माध्यम से पानी उपलब्ध कराया जा रहा है. साथ ही हर घर नल का जल योजना में तेजी लेकर अविलम्ब पूरा कराने के सभी बीडीओ को निर्देशित किया गया है.