दरभंगा: शराबमाफियाओं का कारोबार बदस्तूर जारी, पुलिस छापेमारी में 'हंटर' ने दिखाया कमाल

यूनिवर्सिटी थाना इलाके के लक्ष्मीसागर मुहल्ले से पुलिस ने शराब की बड़ी खेप जब्त की. यहां शराब को म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट्स में छिपा कर रखा गया था. इस पर इतने दिनों से पुलिस की भी नजर नहीं पड़ी थी, लेकिन वहां हंटर का डंडा चल गया. फिर फिल्मी स्टाइल में शराब की बरामदगी हुई.

दरभंगा: शराबमाफियाओं का कारोबार बदस्तूर जारी, पुलिस छापेमारी में 'हंटर' ने दिखाया कमाल
दरभंगा में हंटर डॉग की वजह से जब्त किया गया शराब का जखीरा.

दरभंगा: बिहार में शराबबंदी लागू हुए लंबा वक्त बीत चुका है, लेकिन शराब का चोरी छिपे कारोबार बदस्तूर जारी है. मानो पुलिस और शराब माफिया के बीच तू डाल-डाल तो मैं पात-पात का खेल चल रहा हो. अब इस खेल में हंटर विनर बनकर सामने आ रहा हैं. ये हंटर दरअसल वो डॉग हैं, जिसने शराब माफियाओं के नाक में दम कर रखा है. 

दरभंगा में शराब के खिलाफ जारी अभियान में हंटर ने गजब की भूमिका निभाई. यूनिवर्सिटी थाना इलाके के लक्ष्मीसागर मुहल्ले से पुलिस ने शराब की बड़ी खेप जब्त की. यहां शराब को म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट्स में छिपा कर रखा गया था. इस पर इतने दिनों से पुलिस की भी नजर नहीं पड़ी थी, लेकिन वहां हंटर का डंडा चल गया. फिर फिल्मी स्टाइल में शराब की बरामदगी हुई.

इस कार्रवाई में कृष्णा पासवान नाम का एक आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया. औरंगाबाद में भी खुफिया सूचना पर देसी-विदेशी शराब की बड़ी खेप जब्त की गई. हालांकि कार्रवाई के दौरान शराब कारोबारी भागने में कामयाब रहे.

बिहार में शराबबंदी लागू होने के बावजूद काफी मात्रा में शराब की तस्करी जारी है. गणतंत्र दिवस और सरस्वती पूजा के पहले राज्यभर में पुलिस गश्त लगा रही है और छापेमारी की जा रही है. इस दौरान जैसे-जैसे शराब तस्करों का खुलासा हो रहा है, वैसे-वैसे शराबबंदी की भी पोल खुल रही है.
Priya Singh, News Desk