close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गढ़वा: बालू के अवैध खनन से पुल पर मंडरा रहा खतरा, ग्रामीणों को माफिया देते धमकी

एक लंबे समय तक बालू उठाव होने के बाद लोगों को लगा था कि अब बंद हो जाएगा. लेकिन आज भी बेतरतीब ढंग से बालू का उठाव जारी है. इससे नदी के अस्तित्व पर संकट मंडराने लगा है. 

गढ़वा: बालू के अवैध खनन से पुल पर मंडरा रहा खतरा, ग्रामीणों को माफिया देते धमकी
अवैध बालू खनन से पुल पर मंडराया खतरा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गढ़वा: झारखंड के गढ़वा में बालू उठाव को लेकर शुरू से ही रार मचा हुआ है. एक तरफ विपक्ष से लेकर सत्तापक्ष इसका विरोध कर रहे हैं वहीं, बालू माफिया ग्रामीणों को जान से मारने की धमकी देकर नदियों से लगातार बालू का उठाव कर रहे हैं. नतीजा यह है कि नदी बालू विहीन हो रहा है तो पुल का वजूद भी खतरे में आ गया है.

एक लंबे समय तक बालू उठाव होने के बाद लोगों को लगा था कि अब बंद हो जाएगा. लेकिन आज भी बेतरतीब ढंग से बालू का उठाव जारी है. इससे नदी के अस्तित्व पर संकट मंडराने लगा है. माफियाओं के कारण पुल के वजूद पर भी खतरा उत्पन्न हो गया है. ये माफिया पुल के नीचे से ही बालू निकाल रहे हैं.

गढ़वा जिले के जतरो बंजारी गांव स्थित बांकी नदी पर बने पुल के नीचे से बालू का उठाव किया जा रहा है. जब ऐसा करने से रोका जा रहा है तो माफियाओं के द्वारा लोगों को जान से मारने की धमकी दी जा रही है. इसी जिले के जतपुरा बालू घाट पर चार लोगों की हत्या भी कर दी गई थी. गांव के लोग प्रशासन से लगातार इसकी शिकायत कर रहे हैं, लेकिन कोई असर नहीं पड़ रहा है.

ऐसी बात नहीं है कि प्रशासन द्वारा रोक लगाने की कोशिश नहीं की जा रही है. पुलिस गाहे-बगाहे बालू घाट पहुंचती है तो माफिया नदी छोड़कर भाग खड़े होते हैं. जैसे ही पुलिस मौके से लौटती है कि उनके द्वारा फिर से बालू का उठाव शुरू कर दिया जाता है.