जांच के दौरान SIT को मिले अहम सुराग, सुशांत को सच छुपाने के लिए डराया-धमकाया जा रहा था

मिली जानकारी के मुताबिक सुशांत कहीं सच जाहिर न कर दे, शायद इसके डर से सुशांत को डराया-धमकाया जा रहा था. पुलिस सूत्रों की मानें तो सुशांत के रूम पार्टनर सिद्धार्थ पिठानी को इन सब अहम सुरागों की जानकारी थी.

जांच के दौरान SIT को मिले अहम सुराग, सुशांत को सच छुपाने के लिए डराया-धमकाया जा रहा था
जांच के दौरान SIT को मिले अहम सुराग, सुशांत को सच छुपाने के लिए डराया-धमकाया जा रहा था.

पटना: सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में बिहार पुलिस की टीम ने जांच का कमान संभाला है. पटना सिटी एसपी विनय तिवारी जांच के लिए मुंबई पहुंचे हैं. उनके मुंबई पहुंचते ही एसआईटी को एक बड़ी जानकारी मिली है. SIT को 9 से 13 जून के बीच सुशांत सिंह राजपूत के मोबाइल में कई सिम बदले जाने की जानकारी हाथ लगी है. 

पुलिस को तकरीबन 14 सिम बदले जाने की जानकारी हाथ लगी है. 14 जून को सुशांत की आत्महत्या की खबर आने के बाद  एसआईटी को इस बात का शक पूर्व सेक्रेटरी दिशा की मौत का सच सुशांत को पता चल चुका था. मौत से पहले दिशा ने सुशांत को फोन करके कुछ जानकारी दी थी.

मिली जानकारी के मुताबिक सुशांत कहीं सच जाहिर न कर दे, शायद इसके डर से सुशांत को डराया-धमकाया जा रहा था. पुलिस सूत्रों की मानें तो सुशांत के रूम पार्टनर सिद्धार्थ पिठानी को इन सब अहम सुरागों की जानकारी थी.

एसआईटी को बांद्रा सोसाइटी में सुशांत सिंह राजपूत के घर के आसपास के सीसीटीवी फुटेज से छेड़खानी की भी आशंका थी. हालांकि, एसआईटी को चाह कर भी अब तक सीसीटीवी फुटेज हासिल नहीं कर पाई है.