close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रांची: कचरे के ढेर में बैग में पड़ा मिला नवजात, आरपीएफ ने बचाई बच्चे की जान

झारखंड के हटिया स्टेशन के अंतिम छोर पर कचरे के ढेर में एक 10 दिन के नवजात बच्चे को आरपीएफ ने रेस्क्यू किया. 

रांची: कचरे के ढेर में बैग में पड़ा मिला नवजात, आरपीएफ ने बचाई बच्चे की जान
प्राथमिक उपचार के बाद बच्चे को सहयोग विलेज संस्था को सौंप दिया गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सौरभ शुक्ला, रांची: मां की ममता आंचल का छांव तो नहीं दे सकी लेकिन अपने ही बच्चे को कुत्ते का निवाला बनने के लिए छोड़ दिया. लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था. बच्चे को ना सिर्फ नई जिंदगी मिली यह भी साबित हो गया कि वाकई अभी भी इंसानियत जिंदा है. 

झारखंड के हटिया स्टेशन के अंतिम छोर पर कचरे के ढेर में एक 10 दिन के नवजात बच्चे को आरपीएफ ने रेस्क्यू किया. आरपीएफ के इंस्पेक्टर अजय कुमार सिंह ने कहा कि बच्चा पीपल पेड़ के नीचे कचरे के ढेर में एक झोले में रखा हुआ था. जिसे आवारा कुत्ते नोचने की कोशिश कर रहे थे.

आरपीएफ के एएसआई की नजर जब बच्चे रक पड़ी तो बच्चे को आरपीएफ थाना लाया गया और वहां से इलाज के लिए रेलवे अस्पताल ले जाया गया. प्राथमिक उपचार के बाद बच्चे को सहयोग विलेज संस्था को सौंप दिया गया है.

बच्चा फिलहाल सहयोग विलेज में है और चाइल्ड वेलफेयर सोसाइटी के निर्णय के बाद किसी को सौंपा जाएगा. हालांकि इस नवजात बच्चे को अपनाने के लिए कई लोग सामने भी आए हैं,लेकिन सीडब्ल्यूसी के निर्णय के बाद ही बच्चे को किसी परिवार को देने पर विचार किया जाएगा.