close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सुपौल: समाज के लिए मिसाल बनी मोहनाज-विजय की शादी, हो रही तारीफ

 यहां एक हिंदू प्रेमी और मुस्लिम प्रेमिका की परिवार और समाज ने आपसी रजामंदी से शादी करवाई है. मामला सुपौल के बीरपुर थाना क्षेत्र के बलभद्रपुर पंचायत का है जहां हिसार के विजय की शादी सुपौल की मेहनाज से हुई.  

सुपौल: समाज के लिए मिसाल बनी मोहनाज-विजय की शादी, हो रही तारीफ
सुपौल में एक हिंदू प्रेमी और मुस्लिम प्रेमिका की परिवार और समाज ने आपसी रजामंदी से शादी करवाई

सुपौल: मॉब लिंचिंग और लव जेहाद की खबरों के बीच सुपौल में एक ऐसी शादी हुई है जो समाज के लिए मिसाल बन गई है. यहां एक हिंदू प्रेमी और मुस्लिम प्रेमिका की परिवार और समाज ने आपसी रजामंदी से शादी करवाई है. मामला बिहार के  सुपौल के बीरपुर थाना क्षेत्र के बलभद्रपुर पंचायत का है जहां हिसार के विजय की शादी सुपौल की मेहनाज से हुई.

विजय हिसार से 1500 किलोमीटर का सफर तय करके अपनी प्रेमिका मेहनाज से मिलने सुपौल आया था. दो धर्मों का मामला देखकर पहले तो गांववालों ने प्रेमी विजय को पकड़ लिया. फिर दो समुदायों के पंचों और स्थानीय जनप्रतिनिधियों की बैठक हुई.

 

इसके बाद ये तय किया गया कि लड़की और लड़के की इच्छा के मुताबिक दोनों की शादी करा दी जाए. इसके बाद बीरपुर कोर्ट में दोनों की कोर्ट मैरेज हुई. विजय की मेहनाज से एक साल पहले हिसार में मुलाकात हुई थी. फिर दोनों की दोस्ती हुई और नजदीकियां मुहब्बत में तब्दील हो गई.

विजय पेशे से ड्राइवर है वहीं मेहनाज एक प्राइवेट कंपनी में काम करती थी. कुछ दिन पहले ही मेहनाज सुपौल आ गई. मेहनाज से शादी करने के लिए विजय भी उसके गांव पहुंच गया. पंचों ने बताया कि दोनों एक दूसरे को चाहते थे और शादी करना चाहते थे. दोनों परिवार को भी इस पर एतराज नहीं था.

पंचायत और समाज ने आखिरकार उनकी शादी करवा दी. धार्मिक नफरत की खबरों के बीच परिवार और समाज के इस फैसले की हर कोई सराहना कर रहा है. इसे धार्मिक सौहार्द की अनोखी मिसाल के तौर पर पेश कर रहा है.
Abhijeet, News Desk