close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नीतीश कुमार और कांग्रेस नेता प्रेमचन्द्र मिश्रा की नजदीकी को माना जाए बदलाव के संकेत!

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रेमचन्द्र मिश्रा सदन खत्म होने के बाद साथ बाहर निकले और काफी दोनों खुश दिखे.

नीतीश कुमार और कांग्रेस नेता प्रेमचन्द्र मिश्रा की नजदीकी को माना जाए बदलाव के संकेत!
विधान परिषद कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचन्द्र मिश्रा ने बिहार में वृद्धा पेंशन की राशि को बढ़ाने का मामला उठाया और दूसरे राज्यों का उदहारण दिया.

पटना: बिहार विधान परिषद में कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचन्द्र मिश्रा के द्वारा वृद्धा पेंशन पर पूछे गए सवाल को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मिश्रा पर चुटकी ली. वहीं, प्रेमचन्द्र मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री को मेरे बारे में जानकारी नही है, जिसके लिये तंज कसा है. वहीं, आरजेडी ने मुख्यमंत्री नीतीश और सिंचाई मंत्री संजय झा पर निशाना साधा और प्रेमचंद मिश्रा का समर्थन किया. 

विधान परिषद कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचन्द्र मिश्रा ने बिहार में वृद्धा पेंशन की राशि को बढ़ाने का मामला उठाया और दूसरे राज्यों का उदहारण दिया. वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जिस हरियाणा और तेलंगाना की बात हो रही है वह विकसित राज्य हैं. उन्होंने कहा कि एक हजार, 18 सौ रुपये दिए जा रहे है लेकिन बिहार के पास उतनी इनकम नही है. इसके बावजूद भी हम 400 रुपये देते है, जिससे के वृद्ध लोग काफी खुश हैं. उन्होंने कहा कि प्रेमचन्द्र मिश्रा दिल्ली में ज्यादा समय बिताते हैं, जरा जाकर गांव में भी घूमना चाहिए तब उनको पता चलेगा कि गांव में कैसे लोग खुश हैं. वहीं, मुख्यमंत्री के इस जबाब से जेडीयू के सदस्य काफी खुश दिखे.

वहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रेमचन्द्र मिश्रा सदन खत्म होने के बाद साथ बाहर निकले और काफी दोनों खुश दिखे. दोनों ने रुककर कुछ देर बातें भी की. लेकिन प्रेमचन्द्र मिश्रा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री को जानकारी नही है कि में दिल्ली में नही रहता हूं. यही बात उनको बोली है. मुख्यमंत्री मेरे सवालों का जबाब नही दे पाए. मुख्यमंत्री जब यह कह रहे हैं कि हरियाणा और तेलंगाना विकसित राज्य हैं तो, बिहार अभी तक क्यों नही विकसित नहीं हुआ. 15 साल से नीतीश कुमार क्या कर रहे थे.  
  
वहीं, मुख्यमंत्री की इस चुटकी पर RJD का कांग्रेस को सर्मथन मिला. पार्टी के एमएलसी सुबोध राय ने कहा कि प्रेमचन्द्र मिश्रा ने जो सवाल किया वह वाजिब था. मुख्यमंत्री ने सही जबाब नही दिया. मुख्यमंत्री ने प्रेमचन्द्र मिश्रा को कहा कि वह दिल्ली में रहते हैं लेकिन मुख्यमंत्री के करीबी संजय झा जो दिल्ली में इनके काम से रहते हैं. उनको जल संसाधन मंत्री बना दिया गया, जिसको कोई जानकारी नहीं है और बाढ़ से लोगों का बुरा हाल है.   

बिहार की राजनीति बदल रही है. एक तरफ मुख्यमंत्री का अब्दुल बारी सिद्दीकी के यहां जाना तो दूसरी तरफ कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचन्द्र मिश्रा से बातें करना और आज की कैबिनेट की बैठक में सुशील मोदी का नहीं रहना कहीं ना कहीं राजनीति में कई सवाल खड़े कर रहा है.