Jamshedpur: सादगी के साथ मनाया गया सरहुल, विधायक सरयू राय ने की प्रकृति संरक्षण की अपील

प्रकृति पर्व सरहुल को भक्ति भाव के साथ मनाया गया. इस अवसर पर आदिवासी समुदाय ने पारंपरिक तरीके से  पूजा पाठ कर एक दूसरे को सरहुल की बधाइयां दी.

Jamshedpur: सादगी के साथ मनाया गया सरहुल, विधायक सरयू राय ने की प्रकृति संरक्षण की अपील
सादगी के साथ मना गया सरहुल (प्रतीकात्मक फोटो)

Jamshedpur: जिले में प्रकृति पर्व सरहुल को भक्ति भाव के साथ मनाया गया. इस अवसर पर आदिवासी समुदाय ने पारंपरिक तरीके से  पूजा पाठ कर एक दूसरे को सरहुल की बधाइयां दी. सरहुल के अवसर पर जमशेदपुर में आयोजित सरहुल पूजा के अवसर पर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष रघुवर दास और जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय सरना स्थल पर पहुंचे और लोगों को बधाइयां दी. 

सरहुल पर्व में शामिल होने आए पूर्व मुख्य मंत्री रघुवर दास और विधायक सरयू राय ने सरहुल पर्व को प्रकृति का पर्व बताया. इस दौरान उन्होंने प्रकृति संरक्षण का संदेश दिया. दोनों नेताओं ने आदिवासी समुदाय की इस महान परंपरा को जीवन में आत्मसात किए जाने पर बल दिया और कहा कि, 'आदिवासी समाज प्रकृति के पुजारी होते हैं. प्रकृति के संरक्षण से ही मानव जाति का कल्याण संभव है.'

ये भी पढ़े: Madhupur Byelection 2021: BJP ने लगाया Hemant sarakar पर आरोप, चुनाव जीतने के लिए कर सकती है सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग

 

इस दौरान विधायक सरयू राय ने कहा कि, 'जमशेदपुर में पूरा भारत बसता है. यहां सभी जाति संप्रदाय और धर्म को मानने वाले लोग रहते हैं. सभी एक-दूसरे के पर्व त्योहारों पर एकजुट होकर खुशियां बांटते हैं. सरहुल पर्व पर भी ऐसा ही देखने को मिलता है.  उन्होंने सभी से प्रकृति की रक्षा करने का संकल्प लेने की अपील की. 

वहीं सरहुल पूजा कमेटियों की ओर से सभी गणमान्य अतिथियों का गर्मजोशी से स्वागत करते हुए अनेकता में एकता का संदेश दिया. इस दौरान भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी, भाजपा महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव समेत कई अन्य गणमान्य उपस्थित रहे.

(इनपुट:रणधीर)