प्रियंका गांधी पर बीजेपी द्वारा दिए जा रहे बयानों पर जेडीयू ने दी यह नसीहत

प्रियंका गांधी पर बयान दे रहे बीजेपी नेताओं को जेडीयू नेता ने नसीहत दी है.

प्रियंका गांधी पर बीजेपी द्वारा दिए जा रहे बयानों पर जेडीयू ने दी यह नसीहत
जेडीयू नेता ने बीजेपी नेताओं को नसीहत दी है. (फाइल फोटो)

आशिफ एकबाल/नई दिल्लीः कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन और पुर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की बेटी प्रियंका गांधी की जबसे विधिवत राजनीतिक इंट्री हूई है, तब से वह राजनीति की एक धुरी बन गयी हैं. साथ ही उनकी इंट्री को बीजेपी कितनी गंभीरता से ले रही है, इसका ताज़ा उदाहरण पिछले 72 घंटों से लगातार बीजेपी नेताओं के प्रियंका गांधी पर दिए गए उनके बयान हैं.

ताज़ा बयान कैलाश विजयवर्गिय सुब्रमण्यम स्वामी के साथ बिहार के मंत्री प्रमोद कुमार का है. लेकिन इस तरह के बयान एनडीए के प्रमुख घटक जेडीयू को अच्छी नहीं लगी. जिसके बाद जेडीयू ने बीजेपी नेताओं को नैतिकता का पाठ पढ़ा दिया है. साथ ही हिदायत बरतने की सलाह भी दे दी.

जेडीयू नेता अफ़ज़ल अब्बास ने कहा कि प्रियंका गांधी से ज़्यादा ख़ुद का और एनडीए का नुक़सान कर रहे हैं. उन्होंने कहा बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू के अध्यक्ष नीतीश कुमार महिलाओं को हमेशा प्राथमिकता देते हैं. वह महिलाओं की इज़्ज़त करने की हमेशा सभा को सलाह भी देते हैं. अफ़ज़ल ने कहा कि इस बात को प्रधानमंत्री भी मानते आए हैं कि किसी पर इस तरह टिप्पणी की कोइ जगह नहीं है.

मतलब साफ है कि बीजेपी द्वारा जो बयान प्रियंका गांधी के लिए दिया जा रहा है उससे जेडीयू नाराज है. ऐसे भी कई बार जेडीयू ने ये साबित किया है कि उनकी पार्टी गठबंधन का हिस्सा ज़रूर है लेकिन हर बात पर उनकी हां में हां नहीं मिला सकती.

आपको बता दें कि बिहार सरकार में मंत्री और बीजेपी नेता विनोद नारायण झा ने प्रियंका गांधी वाड्रा को लेकर बड़ा बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि खूबसूरत चेहरों के बदौलत वोट नहीं मिलते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि इससे भी बढ़कर तथ्य यह है कि प्रियंका, रॉबर्ट वाड्रा की पत्नी हैं, जिन पर जमीन घोटाले और भ्रष्टाचार के कई मामलों में शामिल होने का आरोप है.

इसके बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद ने तो गांधी परिवार पर हमला करते हुए कहा कि प्रियंका को राजनीति में उतारने से पहले राहुल गांधी को घर बैठा देना चाहिए था. क्यों कि यह वंशवाद की राजनीति को दर्शाती है. साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस को उत्तराधिकारी देने के लिए राहुल गांधी को अब शादी भी कर लेनी चाहिए.

इसके बाद बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी प्रियंका के राजनीतिक एंट्री पर कहा था कि कांग्रेस अब 'चॉकलेटी चेहरों' के बूते अगला लोकसभा चुनाव लड़ना चाहती है.