JDU नेता ने प्रशांत किशोर पर साधा निशाना, बोले- कंटेट चुराने के मामले में आप अनु मलिक बन गए

 जेडीयू नेता अजय आलोक ने प्रशांत किशोर पर जमकर निशाना साधा है. दरअसल प्रशांत किशोर के ऊपर पटना में एफआईआर दर्ज कराया गया है और उनके ऊपर कंटेट चोरी का आरोप लगा है.

JDU नेता ने प्रशांत किशोर पर साधा निशाना, बोले- कंटेट चुराने के मामले में आप अनु मलिक बन गए
प्रशांत किशोर पर कंटेट की चोरी का आरोप लगा है.

पटना: बिहार में राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर को बड़ा झटका लगा है. पटना में प्रशांत किशोर के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 (धोखाधड़ी और बेईमानी से संपत्ति की डिलीवरी के लिए प्रेरित करना) और 406 (आईपीसी के आपराधिक उल्लंघन के लिए सजा) के तहत एफआईआर दर्ज किया गया है. दरअसल प्रशांत किशोर पर कंटेट की चोरी का आरोप लगा है.

वहीं, जेडीयू नेता अजय आलोक ने प्रशांत किशोर पर जमकर निशाना साधा है. अजय आलोक ने ट्वीट कर कहा है- बिना मांगे हुए अब ज्ञान बेचने का धंधा शुरू किया हैं क्या ? बिहार हित क्या हैं ये अब आप बताएंगे? कोई अब नहीं पूछ रहा हैं तो फिर नीतीश माला का जाप चालू हो गया? आज एक धोखा और 420 का केस आप पे दर्ज हुआ हैं पटना में !! लगता हैं आइडिया चोरी करने में आप अनु मलिक बन गए हैं. संभलो

आपको बता दें कि प्रशांत किशोर के खिलाफ जेडीयू के ही पूर्व नेता शाश्वत गौतम ने एफआईआर दर्ज कराया है. शाश्वत गौतम में आरोप लगाया है कि वह 'बिहार की बात' नाम से एक प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे और भविष्य में उसे लांच करने की तैयारी थी लेकिन उसके पहले ही इस कंटेंट को प्रशांत किशोर लॉन्च कर दिया.

शाश्वत गौतम ने प्रशांत किशोर के साथ-साथ ओसामा नाम के एक युवक पर भी एफआईआर दर्ज करायाहै. गौतम का कहना है कि ओसामा उनके प्रोजेक्ट के साथ जुड़ा हुआ था लेकिन लॉन्चिंग के पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया. ओसामा ही वह शख्स है जिसने प्रशांत किशोर को बात बिहार की प्रोजेक्ट का सारा कंटेंट उपलब्ध कराया.

शाश्वत गौतम ने दावा किया है कि जिस प्रोजेक्ट पर वह काम कर रहे थे प्रशांत किशोर ने हूबहू उसी प्रोजेक्ट की नकल करते हुए 'बात बिहार की' अभियान की शुरुआत कर दी. गौतम ने इस संबंध में पुलिस को सबूत भी उपलब्ध कराए हैं. उनका दावा है कि जनवरी महीने में उन्होंने इसके लिए वेबसाइट का रजिस्ट्रेशन भी कराया था.