बिहार: JDU एमएलसी ने की नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार देने की मांग, विपक्ष ने कसा तंज

बिहार: JDU एमएलसी ने की नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार देने की मांग, विपक्ष ने कसा तंज

गुरुववा को विधान परिषद में जल-जीवन-हरियाली अभियान को लेकर चर्चा हो रही था. इसी दौरान जेडीयू एमएलसी खालिद अनवर ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार देने की मांग की. 

बिहार: JDU एमएलसी ने की नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार देने की मांग, विपक्ष ने कसा तंज

पटना: बिहार की सत्तारूढ़ पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) एमएलसी खालिद अनवर ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिये विधान परिषद में नोबेल पुरस्कार की मांग की है. इस मामले पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने कहा कि मांग करने में कोई बुराई नहीं है. वहीं, राष्ट्रीय जनता दल (RJD) और राष्ट्रीय लौक समता पार्टी (RLSP) ने निशाना साधा है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा जलवायु परिवर्तन को देखते हुये बिहार में जल-जीवन-हरियाली अभियानी की शुरुआत की गई है. इस योजना को बढ़ावा देने में पार्टी के मंत्री, विधायक और नेता लगातार प्रयासरत रहते हैं.

गुरुववा को विधान परिषद में जल-जीवन-हरियाली अभियान को लेकर चर्चा हो रही था. इसी दौरान जेडीयू एमएलसी खालिद अनवर ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार देने की मांग की. उनके इस मांग का समर्थन सभी जेडीयू नेता कर रहे हैं. वहीं, बीजेपी प्रवक्ता जीवेश मिश्रा ने कहा कि नोबेल पुरस्कार के लिए कई तरह के नियम होते हैं. उसमें क्या होगा यह नहीं कह सकता. लेकिन मांग करने में कोई बुराई नहीं है.

वहीं, इस मामग पर आरएलएसपी ने तंज कसा है. पार्टी के प्रवक्ता माधव आनंद ने कहा कि नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार खराब काम करने के लिए मिलनी चाहिए. एक तरफ लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही है. पटना देश के प्रदूषित शहरों में शामिल है. गंगा प्रदूषित हो गई है. समस्याएं अनंत दिख रही हैं. नोबेल पुरस्कार अच्छे कामों के लिए मिलता है. विश्व के जितने भी देश हैं उन्हें एक नोबेल के तर्ज पर ही एक पुरस्कार निकालनी चाहिए जो सबसे खराब काम करे उसे वह देनी चाहिए. नीतीश कुमार को यह पुरस्कार देनी चाहिए.

जेडीयू एमएलसी खालिद अनवर के इस बयान को आरजेडी विधायक राहुल तिवारी ने चमचई की पराकाष्ठा बताया है. साथ ही कहा कि पटना में वायु प्रदूषण काफी है. हाल के दिनों में जलजमाव को पूरी दुनिया के लोगों ने देखा. उसके बावजूद ऐसी बात करना नीतीश कुमार को खुश करने के लिए उनके एमएलसी दे रहे हैं. ऐसे लोगों को नीतीश कुमार इसलिए एमएलसी बनाते हैं कि वे खुश रख सकें.

Trending news