लालू यादव के बयान पर बिफरी JDU, बोली- अपने गांव फुलवरिया तक का विकास नहीं कर पाए RJD सुप्रीमो

नीतीश सरकार में मंत्री नीरज कुमार ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा है कि विकास कैदी नंबर 3351 के रूप में साफ दिखाई पड़ रहा है. 

लालू यादव के बयान पर बिफरी JDU, बोली- अपने गांव फुलवरिया तक का विकास नहीं कर पाए RJD सुप्रीमो
नीतीश सरकार में मंत्री नीरज कुमार ने लालू यादव के बयान पर पलटवार किया है. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के बयान पर अब राजनीति तेज हो गई है. नीतीश सरकार में मंत्री नीरज कुमार ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा है कि विकास कैदी नंबर 3351 के रूप में साफ दिखाई पड़ रहा है. 

उन्होंने लालू यादव को चुनौती देते हुए कहा कि मैं पूरे कुनबे को चुनौती देता हूं कि विकास के मॉडल पर बहस करें. लालू यादव ये बता दें कि अपने पैतृक गांव का उन्होंने कितना विकास किया. वहीं, नीतीश कुमार की सरकार ने फुलवरिया की तस्वीर बदल दी और अब हर घर में वहां बल्ब जल रहा है. 

साथ ही क्वारंटाइन सेंटर पर किए गए सवाल पर उन्होने कहा कि प्रवासी हमारे हैं और संक्रमण से बचाने के लिए क्वारंटाइन सेंटर की व्यवस्था की गई है. प्रवासियों को संक्रमण से भी बचाएंगे और रोजगार भी देंगे. रोजगार सृजन के लिए 4 लाख 13 हजार योजनाओं पर काम शुरू किया गया है.

विपक्ष से उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि उन्हें ही जवाब देना चाहिए कि क्या प्रवासियों को क्वारंटाइन सेंटर में रखना गलत है. क्या सरकार की नीति गलत है. 55 दिन तक गायब रहने वाले विपक्ष सवाल उठा रहे हैं. तेजस्वी यादव को अपने क्षेत्र के क्वारंटाइन सेंटर में जाना चाहिए और देखना चाहिए कि क्या व्यवस्था है.

आपको बता दें कि लालू यादव ने ट्वीट कर बिहार सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार में हमने विकास कार्यों के लिए बिहार को 1 लाख 44 हज़ार करोड़ की धनराशि दिलाई. 60 हज़ार करोड़ का रेल कारखाना दिया. हमारे दिए पैसे से नीतीश ने मुंह चमकाया, ख़ुद एनडीए में थे बिहार को फूटी कौड़ी नहीं दिलाई. विकास कार्यों में हमने कभी संकीर्ण राजनीति नहीं की.