NRC के मुद्दे पर जेडीयू में फूट, वरिष्ठ नेताओं की अलग-अलग राय

जेडीयू क कई वरिष्ठ मंत्रियों की एनआरसी पर अलग-अलग राय है. मंत्री मदन सहनी ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि जो बाहरी हैं उन्हें बाहर जाना होगा. 

NRC के मुद्दे पर जेडीयू में फूट, वरिष्ठ नेताओं की अलग-अलग राय
जेडीयू क कई वरिष्ठ मंत्रियों की एनआरसी पर अलग-अलग राय है. (फाइल फोटो)

पटना : बिहार में एनआरसी के मुद्दे पर जेडीयू में फूट साफ नजर आ रही है. जेडीयू क कई वरिष्ठ मंत्रियों की एनआरसी पर अलग-अलग राय है. मंत्री मदन सहनी ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि जो बाहरी हैं उन्हें बाहर जाना होगा. 

उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार के इस फैसले को लेकर कोई मतभेद नहीं है. वहीं, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद अहमद ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि पाकिस्तान, नेपाल, अमेरिका के नागरिक को इस देश की नागरिकता कैसे दी जाती है. जो भारत के हैं ही नही उन्हें कैसे यहां रहने दिया जा सकता है. हम संविधान को मानते हैं.

वहीं, मंत्री अशोक चौधरी ने एनआरसी का विरोध किया है. उन्होंने कहा है कि पार्टी का स्टैंड एनआरसी के मुद्दे पर क्लीयर है. वहीं, बीजेपी नेता मिथलेश तिवारी ने कहा है कि एनआरसी के मुद्दे का जेडीयू विरोध नहीं करेगी. उन्होंने कहा कि धारा 370 का मामला हो या राम मंदिर का, जेडीयू ने हमेशा अपनी बात रखी है, किसी ने विरोध नहीं किया है. बिहार में भी एनआरसी लागू है. 

एनआरसी के मुद्दे पर अलग-अलग राय पर अब आरजेडी ने निशाना साधा है. आरजेडी ने कहा है कि जेडीयू में कई लोग देश में अमन चैन चाहते हैं. नीतीश कुमार के कारण वो अपना मुंह नहीं खोल रहे लेकिन एनआरसी के मुद्दे पर जेडीयू के कई नेता हमारे साथ.