close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: अनंत सिंह का बचाव कर रही RJD पर बरसी JDU, कहा- अपराध पर दिखाएं गंभीरता

जेडीयू के नेताओं का नाम लिए बिना शिवानंद तिवारी ने कहा कि, आज अनंत सिंह के खिलाफ कार्रवाई हो रही है क भी इसी अनंत सिंह के कारण 2009 में जेडीयू के वरिष्ठ नेता पार्टी से अलग हो गए थे. तब नीतीश कुमार और अनंत सिंह में गहरी दोस्ती थी.

बिहार: अनंत सिंह का बचाव कर रही RJD पर बरसी JDU, कहा- अपराध पर दिखाएं गंभीरता
जेडीयू ने आरजेडी पर राजनीतिक हमला बोला है और कहा है कि आरजेडी के नेता अपराध पर थोड़ी गंभीरता दिखाएं.

पटना: बिहार के मोकामा से विधायक अनंत सिंह की मुश्किलें लगातार बढ़ रही हैं. उनके पैतृक घर से एके-47 और हैंड ग्रेनेड मिलने और उनके ऊपर यूएपीए एक्ट दर्ज होने के बाद राजनीतिक दलों ने अपने-अपने हिसाब से प्रतिक्रिया दी है. यूएपीए एक्ट दर्ज होने के बाद जहां आरजेडी ने इसे एकतरफा बताया है वहीं दूसरी ओर जेडीयू ने आरजेडी पर राजनीतिक हमला बोला है और कहा है कि आरजेडी के नेता अपराध पर थोड़ी गंभीरता दिखाएं.

मोकामा से विधायक अनंत सिंह पर अनलॉफुल एक्टीविटिज प्रिवेंशन एक्ट यानि यूएपीए के तहत केस दर्ज किया गया है. राष्ट्रीय जनता दल के उपाध्यक्ष और वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने इस मामले पर सरकार से सीधा सवाल किया है. शिवानंद तिवारी ने कहा है कि यूएपीए एक्ट दरअसल आतंकियों के खिलाफ एक प्रभावी कानून है लेकिन इसका इस्तेमाल अनंत सिंह के खिलाफ किया जा रहा है. ऐसा नहीं होना चाहिए. ठीक है उनके घर से हथियार मिले हैं ये कानून के खिलाफ है लेकिन यूएपीए लगाना किसी भी तरीकके से उचित नहीं है. शिवानंद तिवारी के मुताबिक,भारत में नीतीश कुमार की सरकार पहली ऐसी सरकार है जिसने संशोधित यूएपीए एक्ट का इस्तेमाल किया है. अपराधी और आतंकी में क्या फर्क होता है इसे सरकार को समझना चाहिए. 

 

जेडीयू के नेताओं का नाम लिए बिना शिवानंद तिवारी ने कहा कि, आज अनंत सिंह के खिलाफ कार्रवाई हो रही है क भी इसी अनंत सिंह के कारण 2009 में जेडीयू के वरिष्ठ नेता पार्टी से अलग हो गए थे. तब नीतीश कुमार और अनंत सिंह में गहरी दोस्ती थी.

अनंत सिंह पर शिवानंद तिवारी के बयान को जनता दल यूनाइटेड और भारतीय जनता पार्टी ने गंभीरता से लिया है. जेडीयू के प्रवक्ता संजय सिंह ने शिवानंद तिवारी से सवाल पूछते हुए कहा है कि, क्या संविधान ने किसी को एके-47 और हैंड ग्रेनेड रखने की अनमुति दी है. किस आधार पर अनंत सिंह की वकालत शिवानंद तिवारी कर रहे हैं.

 संजय सिंह के मुताबिक, बिहार में सुशासन की सरकार है और वो बिना किसी भेदभाव के काम करती है. यहां न तो किसी को फंसाया जाता है और न ही बचाया जाता है. संजय सिंह ने कहा कि कभी नीतीश कुमार के बगल में शिवानंद तिवारी बैठते थे और आज वो तेजस्वी यादव का झोला ढो रहे हैं. 

भारतीय जनता पार्टी के नेता और बिहार विधान परिषद के सदस्य नवल किशोर यादव ने भी कहा है कि, अनंत सिंह ने कानून को तोड़ा है और उनके खिलाफ हर संभव कार्रवाई होनी चाहिए.आरजेडी के इन आरोपों में कोई दम नहीं कि, सरकार किसी पूर्वाग्रह से अनंत सिंह को फंसा रही है.