बिहार: मेडिकल टीम पर हमले पर सियासत शुरू, JDU ने RJD पर किया पलटवार

कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे कोरोना वॉरियर्स को संक्रमण के साथ-साथ गैर जागरूक लोगों की बदसलूकी से भी जूझना पड़ रहा है. इसका उदहारण मोतिहारी और औरंगाबाद में देखने को मिला है. औरंगाबाद के गांव में कोरोना संदिग्ध की सूचना पर पहुंची टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया.

बिहार: मेडिकल टीम पर हमले पर सियासत शुरू, JDU ने RJD पर किया पलटवार
राजीव रंजन ने कहा कि समाज आज मानवता की लड़ाई लड़ रहा है. (फाइल फोटो)

पटना: कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे कोरोना वॉरियर्स को संक्रमण के साथ-साथ गैर जागरूक लोगों की बदसलूकी से भी जूझना पड़ रहा है. इसका उदहारण मोतिहारी और औरंगाबाद में देखने को मिला है. औरंगाबाद के गांव में कोरोना संदिग्ध की सूचना पर पहुंची टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया.

इस दौरान हमले में एसडीपीओ समेत कई लोग घायल हो गए. वहीं, मोतिहारी में लोगों को जागरूक करने गए अफसरों पर ग्रामीणों ने हमला किया. इसमें बीडीओ घायल हो गए. इसको लेकर बिहार में सियासत शुरू हो गई है.

आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा है कि कई जगह से इस तरह से हमले की खबर आ रही है. इसके पीछे की वजह समाज में नफरत और अविश्वास पैदा होना है. यह एक धार्मिक समुदाय तक नहीं रह गया है, बल्कि अब आम लोगों में भी फैलता जा रहा है.

शिवानंद तिवारी ने कहा कि मेडिकल स्टाफ और डॉक्टर से दुश्मन की तरह व्यवहार किया जा रहा है. जो लोग ठीक हो गए हैं, उनके अपने गांव में अछूत की तरह व्यवहार किया जा रहा है. इस मामले में सरकार को जागृति फैलाने का काम करना चाहिए.

आरजेडी नेता ने कहा कि दिल्ली और बिहार की सरकार समाज में ऐसे राजनीतिक फूट का उठाने में लगी हैं और अगर ऐसा ही रहा तो समाज में इस तरह की घटना ज्यादा होने की आशंका है. वहीं, आरजेडी के बयान पर जेडीयू ने पलटवार किया है. जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा की आरजेडी के नेताओं को नियंत्रित रहना चाहिए. यह संकट की घड़ी है और उनके नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ट्विटर पर ज्ञान बांटते हैं.

राजीव रंजन ने कहा कि समाज आज मानवता की लड़ाई लड़ रहा है. डॉक्टर, सफाईकर्मी, पुलिसकर्मी और मीडिया के साथ अगर ऐसे व्यवहार हो रहे हैं तो वह दुर्भाग्यपूर्ण है. इधर, बिहार सरकार में मंत्री विजय सिन्हा ने कहा कि इस तरह की घटना कभी नहीं होनी चाहिए. कोरोना योद्धा जनता के लिए काम कर रहे हैं और उन पर हमला, इससे अधिक कायरतापूर्ण कुछ हो ही नहीं सकता है.

विजय सिन्हा ने कहा कि ये लोग समाज के दुश्मन हैं या वही लोग हैं, जिन्हें अपने राष्ट्र और समाज से कोई मतलब नहीं है. इन्हें बस कुर्सी, गद्दी और अपनी राजनीति से मतलब है.