close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

JDU ने नए स्लोगन को बताया बिहार की आवाज, बोली- CM पद के लिए कोई वैकेंसी नहीं

संजय सिंह ने कहा कि चुनाव का फॉर्मूला केंद्रीय नेतृत्व तय करेगा. साथ ही कहा कि बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) चट्टान की तरह एकजुट है. 

JDU ने नए स्लोगन को बताया बिहार की आवाज, बोली- CM पद के लिए कोई वैकेंसी नहीं
जेडीयू दफ्तर के बाहर लगे पोस्टर.

पटना : बिहार विधानसभा चुनाव की आहट धीरे-धीरे ही सही, सुनाई देने लगी है. बिहार की सत्तारूढ़ पार्टी जनता दल युनाटेड (जेडीयू) के प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि यह स्लोगन बिहार के 12 करोड़ की जनता की आवाज है. साथ ही उन्होंने इस बात को भी दोहराया कि बिहार में सीएम पद के लिए कोई वैकेंसी नहीं है. 

संजय सिंह ने कहा कि चुनाव का फॉर्मूला केंद्रीय नेतृत्व तय करेगा. साथ ही कहा कि बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) चट्टान की तरह एकजुट है. जेडीयू प्रवक्ता ने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व तय करेगा कि कौन कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगा.

बीजेपी का साथ छोड़ विपक्ष के साथ जाने के सवाल पर संजय सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार में डूबे विपक्ष के साथ जाने का सवाल ही नहीं है. उन्होंने हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि उनकी बातों को कोई नोटिस नहीं लेता है.

ज्ञात हो सत्तारूढ़ जेडीयू ने नया नारा दिया है. इस स्लोगन के केंद्र में नीतीश कुमार हैं. जेडीयू ऑफिस में एक बड़ा सा होर्डिंग लगाया गया है, जिस पर लिखा है, 'क्यों करें विचार, ठीके तो है नीतीश कुमार'. इससे पहले 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की टीम ने इसी तर्ज पर एक नारा दिया था, जिसमें कहा गया था, 'बिहार में बहार हो, नीतीश कुमार हो.' इस नारे ने खूब सुर्खियां बटोरी थी.

लाइव टीवी देखें-: