बिहार: कॉलेज में टॉपर था JDU छात्र नेता कन्हैया, शव के गांव पहुंचते ही पसरा मातम

मधुबनी के छात्र नेता कन्हैया की सोमवार को पटना में गोली मारकर हत्या कर दी गई. शव के पहुंचते ही बुधवार को गांव में मातम पसर गया. कन्हैया कौशिक रहिका थाना के ककरौल गांव का निवासी था.

बिहार: कॉलेज में टॉपर था JDU छात्र नेता कन्हैया, शव के गांव पहुंचते ही पसरा मातम
शव के पहुंचते ही बुधवार को गांव में मातम पसर गया.

मधुबनी: बिहार के मधुबनी का रहने वाला जेडीयू के छात्र नेता कन्हैया की मंगलवार को पटना में गोली मारकर हत्या कर दी गई. शव के बुधवार को गांव पहुंचते ही हर तरफ मातम पसर गया. कन्हैया कौशिक रहिका थाना के ककरौल गांव का निवासी था.

कन्हैया के माता-पिता ने अपने बेटे को पढ़ने के लिए पटना भेजा था लेकिन उसकी हत्या हो गई. कन्हैया पटना के ए.एन कॉलेज में केमिस्ट्री ऑनर्स का छात्र था और टॉपर भी रह चुका था. पढ़ाई के साथ-साथ छात्र राजनीति से भी वो जुड़ा था. कन्हैया छात्र संगठन में कॉलेज का उपाध्यक्ष था और जेडीयू से जुड़ा हुआ था.

आपको बता दें कि पटना में मंगलवार को होली के दिन डीजे बजाने को लेकर विवाद हुआ था. देर शाम इसी बात को लेकर समझौता के लिए कन्हैया को बुलाया गया और गोली मारकर ह्त्या कर दी गई. वहीं, इस घटना में एक छात्र चंदन घायल भी घायल हुआ था जिसे अस्पताल में भर्ती किया गया. वहीं, कन्हैया के दोस्तों का कहना है कि सोची समझी साजिश के तहत कन्हैया की हत्या की गई है.

कन्हैया के परिजनों का कहना है कि कन्हैया काफी होनहार छात्र था. परिजनों ने हत्यारे की शीघ्र गिरफ्तारी और एक करोड़ रूपये मुआवजे की मांग की है. कन्हैया कौशिक दो भाइयों में बड़ा था. उसका छोटा भाई भी स्नातक की पढ़ाई कर रहा है और पटना में ही रहकर प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करता है. हत्या को लेकर पटना में केस दर्ज किया गया है लेकिन फिलहाल इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.