बिहार: नालंदा में सड़क पर उतरे जेडीयू कार्यकर्ता, सीओ के खिलाफ जमकर की नारेबाजी

ये पूरा मामला बाढ़ से जुड़ा हुआ है. दरअसल जेडीयू नेताओं का ये आरोप है कि इस साल इलाके में भीषण बाढ़ आई थी. लेकिन अधिकारियों से जब इलाके की रिपोर्ट मांगी गई तो अधिकारियों ने 2019 की जगह सरकार को 2017 की रिपोर्ट भेज दी. जिस वजह से बाढ़ से मिलने वाली सहायता राशि लोगों को नहीं मिली.

बिहार: नालंदा में सड़क पर उतरे जेडीयू कार्यकर्ता, सीओ के खिलाफ जमकर की नारेबाजी
जेडीयू नेताओं ने ग्रामीणों के साथ सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया.

नालंदा: बिहार का गर्व माने जाना वाला नालंदा का हाल बहुत बुरा है. वैसे तो नालंदा सीएम नीतीश कुमार का गृह जिला माना जाता है. लेकिन यहां की प्रशासनिक सेवाएं बद से बद्तर स्थिति में है. स्वच्छ भारत अभियान का बोर्ड लेकर घूमने वाली पार्टी के लोग ही नालंदा की प्रशासिक सेवाओं से परेशान है. 

खुद सीएम की पार्टी यानी जेडीयू के लोग सड़कों पर उतरे. इतना ही नहीं सड़क पर उतर कर कार्यकर्ताओं ने अंचलाधिकारी का विरोध किया. अंचलाधिकारी के विरोध में कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की. साथ ही जेडीयू नेताओं ने ग्रामीणों के साथ सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया. ये जुलूस मालती गांव से निकल कर प्रखंड कार्यालय के पास पहुंचा जहां अंचलाधिकारी का पुतला दहन किया गया .

LIVE TV Code :

आपको बता दें कि ये पूरा मामला बाढ़ से जुड़ा हुआ है. दरअसल जेडीयू नेताओं का ये आरोप है कि इस साल इलाके में भीषण बाढ़ आई थी. लेकिन अधिकारियों से जब इलाके की रिपोर्ट मांगी गई तो अधिकारियों ने 2019 की जगह सरकार को 2017 की रिपोर्ट भेज दी. जिस वजह से बाढ़ से मिलने वाली सहायता राशि लोगों को नहीं मिली.

मुआवाजा नहीं मिलने की वजह से किसान और ग्रामीण बेहद परेशान है. ग्रामीणों ने ये आरोप लगाया कि अंचल कार्यालय में बिचौलियों के माध्यम से सारा काम होता है. जिसकी वजह से ग्रामीणों का हक उनसे छीन जाता है. जेडीयू नेताओं ने अधिकारियों को चेतावनी दी है कि अगर अंचलाधिकारी को नहीं हटाया गया तो आगे भी उनका ये आंदोलन जारी रहेगा.

आपको ये भी बता दें कि इस प्रदर्शन का नेतृत्व जेडीयू के किसान प्रकोष्ठ के अध्यक्ष त्रिनयन कुमार कर रहे थे. यही नहीं इस जुलूस में बीजेपी प्रखंड के कई  नेता मौजूद थे. लोगों का भी ये आरोप है कि जब अंचलाधिकारी ने अपना पदभार ग्रहण किया है कोई भी काम सही तरीके से नहीं हो रहा है.

हांलकि अब ये देखने वाली बात होगी कि आखिर इस मामले में की जांच कर कार्रवाई की जाती है.
Anupama Kumari, News Desk