close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इस बार दिलचस्प होगा झरिया विधानसभा सीट पर चुनाव, मानी जाती है झारखंड की हॉट सीट

नीरज सिंह की हत्या और इसके आरोप में जेल गए विधायक संजीव सिंह की पत्नी रागनी सिंह, झारिया से चुनावी मैदान में ताल ठोंकने की तैयारी में है, तो वहीं नीरज सिंह की हत्या के बाद उनकी पत्नी पूर्णिमा सिंह जनता के बीच जाकर उनका समर्थन और विश्वास जितने का काम कर रहीं हैं.

इस बार दिलचस्प होगा झरिया विधानसभा सीट पर चुनाव, मानी जाती है झारखंड की हॉट सीट
नीरज सिंह की हत्या और इसके आरोप में जेल गए विधायक संजीव सिंह की पत्नी रागनी सिंह, झारिया से चुनावी मैदान में ताल ठोंकने की तैयारी में है. (फाइल फोटो)

झरिया: झारखंड के कोयलांचल का झरिया विधानसभा हॉट सीट माना जाता है. नीरज सिंह की हत्या और इसके आरोप में जेल गए विधायक संजीव सिंह की पत्नी रागनी सिंह, झारिया से चुनावी मैदान में ताल ठोंकने की तैयारी में है, तो वहीं नीरज सिंह की हत्या के बाद उनकी पत्नी पूर्णिमा सिंह जनता के बीच जाकर उनका समर्थन और विश्वास जितने का काम कर रहीं हैं.

झारिया विधानसभा पूरे झारखंड में हॉट सीट माना जाता है. यहां दो परिवार के बीच लड़ाई काफी रोचक होता है. 2004, 2009 में बीजेपी से कुंती देवी जीत कर विधानसभा का सफर पूरा किया, तो वहीं 2014 में बीजेपी ने संजीव सिंह को टिकट दिया और वो जीत कर विधानसभा पहुंचे. संजीव सिंह को चुनौती उन्हें अपने ही चचेरे भाई और कांग्रेस उम्मीदवार नीरज सिंह से मिली, लेकिन 33 हजार से भी अधिक मत से नीरज को हार का हार का मुंह देखना पड़ा.

 

नीरज सिंह हत्यकांड में संजीव सिंह के जेल जाने के बाद पत्नी पूर्णिमा सिंह ने कमान संभाल लिया है. झारिया के विकास के वादे और मैदान में जो भी सामने आएगा बतौर उम्मीदवार बन कर सामने होगा कह कर चुनावी मैदान में दंभ भर रही है.

वहीं, रघुकुल के नीरज सिंह की हत्या के बाद उनकी पत्नी पूर्णिमा झारिया का कमान संभालने की तैयारी में हैं. जनता का विश्वास जितने के लिए लगातर लोगों के बीच जाकर उनके हक की लड़ाई लड़ने की बात कर रही है. तो वहीं, विरोधियों पर ज्यादा कुछ नहीं कहते हुए अपनी लड़ाई को जनता के साथ मिलकर लड़ने की बातें कह रही है.

जाहिर है झारिया का चुनावी मैदान और इसे फतह करने की राह इतनी भी आसान नहीं है, लेकिन सिंह मेनसन और रघुकुल दोनों ही घराने की महिला शक्ति चुनाव में अपने विरोधी को पटखनी देने का दंभ भर रही है.