close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड चुनाव: कांग्रेस नेता के बागी तेवर, टिकट नहीं मिलने पर थामेंगी दूसरी पार्टी का दामन

कांग्रेस नेता ने साफ तौर पर कहा है कि उनके समर्थक और जनता चाहती है कि मैं चुनाव लड़ूं, इसलिए वे किसी भी हालत में चाईबासा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ूंगी.

झारखंड चुनाव: कांग्रेस नेता के बागी तेवर, टिकट नहीं मिलने पर थामेंगी दूसरी पार्टी का दामन
चाईबासा में कांग्रेस नेता ने अपनाए बागी तेवर.

चाईबासा: पश्चिम सिंहभूम जिला परिषद की उपाध्यक्ष और कांग्रेस नेता चांदमुनी बालमुचू ने पार्टी से बगावत करने की घोषणा कर दी है. जिप उपाध्यक्ष ने मीडिया के समक्ष घोषणा करते कहा कि वह हर हाल में चाईबासा विधानसभा (Chaibasa Assembly Seat) क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगी. कांग्रेस उन्हें टिकट देती है तो वह पार्टी के सिबंल पर ही चुनाव लड़ेगी, लेकिन गठबंधन होने पर पार्टी टिकट नहीं देगी तो वह बागी होकर किसी दूसरी पार्टी के सिंबल पर चुनाव लड़ेगी.

कांग्रेस (Jharkhand Congress) नेता ने साफ तौर पर कहा है कि उनके समर्थक और जनता चाहती है कि मैं चुनाव लड़ूं, इसलिए वे किसी भी हालत में चाईबासा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ूंगी. कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने पर वह किस पार्टी से चुनाव लड़ेगी इसका खुलासा एक-दो दिन में करेंगी.

जिप उपाध्यक्ष और कांग्रेस नेता चांदमुनी बालमुचू के इस बागी तेवर से चाईबासा विधानसभा का पूरा चुनावी समीकरण ही बदल जाएगा. सूत्रों के अनुसार, चादंमुनी बालमुचू को कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने पर उनका जेवीएम में शामिल होना तय माना जा रहा है. इस लिहाज से चाईबासा में मुकाबला त्रिकोणीय हो जाएगा. बातौर जिप उपाध्यक्ष के रूप में चांदमुनी बालमुचू की ग्रामीण क्षेत्रों में मजबूत पकड़ मानी जाती है.

चांदमुनी बालमुचू के तेवर से झामुमो विधायक दीपक विरूआ को झटका लगेगा, उन्हें त्रिकोणीय मुकाबला का सामना करना पड़ेगा. दीपक विरुआ का जो ग्रामीण इलाकों के मतदाताओं पर जो पकड़ है, उसके बिखराव का फायदा बीजेपी को मिल सकता है. चांदमुनी को कांग्रेस टिकट देती है तो झामुमो को तो झटका लगेगा. वहीं, अगर नहीं देती है तो झामुमो और कांग्रेस दोनों को एक साथ झटका लग सकता है.