किसानों की आत्महत्या पर रघुवर दास सरकार ने नहीं लिया संज्ञान: कांग्रेस विधायक

उन्होंने कहा कि कई किसानों ने आत्महत्या की है, लेकिन सरकार ने कोई संज्ञान नहीं लिया. छतीसगढ़ समेत कई राज्य में कांग्रेस की सरकार बनते ही सात दिनों के अंदर किसानों को ऋण मुक्त कर दिया गया.

किसानों की आत्महत्या पर रघुवर दास सरकार ने नहीं लिया संज्ञान: कांग्रेस विधायक
कांग्रेस एमएलए का रघुवर सरकार पर हमला.

पाकुड़: झारखंड के पाकुड़ (Pakur) में कांग्रेस विधायक सह उम्मीदवार आलमगीर आलम ने पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं के साथ एक बैठक की. बैठक में विधनासभा चुनाव (Jharkhand Assembly Elections 2019) को लेकर कार्यकर्ताओं को कई तरह के टिप्स दिए. इस मौके पर पाकुड़ विधानसभा के कांग्रेस उम्मीदवार आलमगीर आलम ने कहा कि आगामी दो दिसम्बर को मैं नामांकन करूंगा. उन्होंने कहा कि यहां कई तरह के मुद्दे हैं. पारा शिक्षक, आंगनबाड़ी सेविका-सहियका, ऐएनएम, होमगार्ड, किसान, वृद्धा पेंशन, लॉ एंड ऑर्डर समेत कई ऐसे मुद्दे हैं.

कांग्रेस उम्मीदवार ने कहा कि इन सारे मुद्दे को लेकर हम जनता के पास जा रहे हैं. सरकार की नाकामी को गिना रहे हैं. उन्होंने कहा कि यहां की जनता को सरकार ने कई तरह के सपने दिखाए, लेकिन सपना सपना ही रह गया. उन्होंने कहा कि इस बार के मेनिफेस्टो में किसानों पर विशेष ध्यान दिया गया है. यहां पर 2014 से 2019 तक लगातार कई किसानों की मौत हुई.

उन्होंने कहा कि कई किसानों ने आत्महत्या की है, लेकिन सरकार ने कोई संज्ञान नहीं लिया. छतीसगढ़ समेत कई राज्य में कांग्रेस की सरकार बनते ही सात दिनों के अंदर किसानों को ऋण मुक्त कर दिया गया. छतीसगढ़ में किसानों को सस्ते दामों में बीज दिए जाते हैं. किसानों को इसबार ऋण माफ कर उनके अनाज का अच्छा दाम दिया जाएगा.

आलमगीर आलम ने कहा की दो दिसम्बर को मैं नामांकन करूंगा. ज्ञात हो कि पाकुड़ में अंतिम चरण यानी 20 दिसंबर को वोटिंग होगी. 23 दिसंबर को झारखंड विधानसभा चुनाव के परिणाम आएंगे.