झारखंड से किया नक्सलियों का सफाया, अब देर रात भी लोग निकलते हैं घरों से: JP नड्डा

जेपी नड्डा ने अपने संबोधन में कहा कि 70 वर्षों में देश जिस मुकाम तक नहीं पहुंच सका, उस मुकाम तक पहुंचने के लिए पीएम मोदी काम कर रहे हैं. 

झारखंड से किया नक्सलियों का सफाया, अब देर रात भी लोग निकलते हैं घरों से: JP नड्डा
लातेहार में जेपी नड्डा ने एक चुनावी सभा को संबोधित किया. (फाइल फोटो)

लातेहार: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने चंदवा हाई स्कूल मैदान में एक जनसभा को संबोधित किया. इस कार्यक्रम में अर्जुन मुंडा भी पहुंचे. जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 2019 में नया इतिहास बनाने की ओर भारत आगे बढ़ा है. साथ ही उन्होंने कहा कि एक आदिवासी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता की सेवा करने का मौका दिया है. 

जेपी नड्डा ने अपने संबोधन में कहा कि 70 वर्षों में देश जिस मुकाम तक नहीं पहुंच सका, उस मुकाम तक पहुंचने के लिए पीएम मोदी काम कर रहे हैं. भगवान बिरसा मुंडा की धरती को भी जेपी नड्डा ने नमन किया.

उन्होंने कहा कि बिरसा मुंडा ने इस धरती को अंग्रेजों के चंगुल से मुक्ति दिलाने के लिए लड़ाई लड़ी थी. इस दौरान उन्होंने स्थानीय उम्मीदवार प्रकाश राम को वोट देने की अपील की. साथ ही उन्होंने कहा कि सवाल सिर्फ बीजेपी और रघुवर दास को जिताने का नहीं है, बल्कि झारखंड के भविष्य को और उज्ज्वल बनाने का है.

जेपी नड्डा ने कहा कि राज्य के गठन के बाद आज तक किसी भी मुख्यमंत्री ने पांच साल तक शासन नहीं किया. मुख्यमंत्री रघुवर दास इस राज्य में पांस साल तक शासन चलाकर राज्य को विकास के पथ पर लगातार आगे बढ़े हैं. पहले लातेहार के क्षेत्र में दिन के 12 बजे के बाद लोग नक्सलियों के भय से बाहर नहीं निकलते थे. आज लोग रात के 12 बजे भी बिना भय बाहर निकलते हैं. उन्होंने कहा कि झारखंड से नक्सलियों का सफाया हुआ है.

जेडपी नड्डा ने कहा कि 23 मई को जब लोकसभा चुनाव का नतीजा आया, तब यहां से सांसद सुनील सिंह ने नरेंद्र मोदी के हाथों को मजबूत किया. इसी का परिणाम है कि कश्मीर से धारा 370 और 35 A हटाया गया. धारा 370 हटने के बाद कश्मीर भी भारत के संविधान से जुड़ गया. जम्मू कश्मीर को लूटने वाले नेताओं की जगह अब जेल में होगी.

इस दौरान उन्होंने ट्रिपल तलाक का मुद्दा भी उठाया. नड्डा ने कहा कि ट्रिपल तलाक के विषय में विरोधियों ने अफवाह फैलाने का काम किया. जब देश में सती प्रथा, बाल विवाह कानून को खत्म हो सकता है तो फिर ट्रिपल तलाक को क्यों नहीं खत्म किया जाना चाहिए. मुस्लिम देशों में ट्रिपल तलाक नहीं होता है.