close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंडः मानसून सत्र का चौथा दिन भी हंगामे की भेंट चढ़ा

झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र का चौथा दिन भी हंगामों से भरा रहा. चौथे दिन गुरुवार को सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो पहले विपक्ष ने विधानसभा के गेट पर प्रदर्शन करते नजर आये. 

झारखंडः मानसून सत्र का चौथा दिन भी हंगामे की भेंट चढ़ा
झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र जारी है.

रांचीः झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र का चौथा दिन भी हंगामों से भरा रहा. जैसा कि पहले से अनुमान लगाया जा रहा था कि सदन की कार्यवाही ठीक से चलना मुश्किल है वह सच साबित होते दिख रही है. सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ही अपने-अपने तरीके से सदन की कार्यवाही चलाना चाहते हैं. ऐसे में हंगामे की भेंट चढ़ना तो तय ही है.

चौथे दिन गुरुवार को सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो पहले विपक्ष ने विधानसभा के गेट पर प्रदर्शन करते नजर आये. वहीं, कांग्रेस नेता मांग कर रहे थे कि युवा कांग्रेस पर जो लाठीचार्ज हुई उसकी जांच की जाए. साथ ही भूमि अधिग्रहण बिल का भी पूरी जोर से विरोध जारी रहा. और भी कई मुद्दों पर सदन में हंगामा किया गया.

सदन में सबसे अधिक हंगामा और विरोध विधेयक को लेकर दिखा. विपक्ष का कहना था कि सरकार जल्दीबाजी में विधेयक लाती है. जो गलत है. भोजनावकाश से पहले सदन की कार्यवाही करीब 40 मिनट तक चली. इसी दौरान विपक्ष के चार सदस्यों ने चार कार्य स्थगन प्रस्ताव लाए लेकिन इसे अमान्य कर दिया गया.

हालांकि विधानसभा अध्यक्ष ने पूरी कोशिश की कि सदन की कार्यवाही चले. लेकिन दोनों पक्ष की ओर से नोकझोंक होती रही. इस दौरान मंत्री सीपी सिंह और रणधीर सिंह काफी उत्तेजित दिखे. वहीं, मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी कांग्रेस पर जमकर बरसते दिखे.