झारखंड चुनाव: दिलचस्प है रांची की लड़ाई, सभी दलों के प्रत्याशी कर रहे जीत के दावे

झारखंड विधानसभा चुनाव का सियासी रण तैयार है. स्क्रूटनी के बाद सभी प्रत्याशी अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं. रांची विधानसभा सीट की लड़ाई काफी दिलचस्प हो चुकी है

झारखंड चुनाव: दिलचस्प है रांची की लड़ाई, सभी दलों के प्रत्याशी कर रहे जीत के दावे
स्क्रूटनी के बाद सभी प्रत्याशी अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं.

रांची: झारखंड विधानसभा चुनाव का सियासी रण तैयार है. स्क्रूटनी के बाद सभी प्रत्याशी अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं. झारखंड सरकार के नगर विकास मंत्री और रांची विधानसभा सीट से बीजेपी के उम्मीदवार सीपी सिंह ने कहा कि रांची की जनता का प्यार मिला है, मेरे लिए मुकाबला नहीं है क्योंकि मैं जनता के बीच रहता हूं और जनता के हृदय में बसता हूं.

तो वहीं गठबंधन की उम्मीदवार झारखंड मुक्ति मोर्चा प्रत्याशी महुआ माजी ने कहा कि मैं 5 सालों तक जनता के साथ रही हूं और आत्मविश्वास के साथ चुनावी मैदान में हूं और इस बार मुझे जनता जरूर मौका देगी. उन्होंने अपने 30 साल के राजनीतिक जीवन का भी हवाला दिया और कहा कि जनता की समस्याओं को करीब से देखी हूं. जनता के लिए ही काम करूंगी, इसी संकल्प के साथ चुनावी मैदान में हैं.

जबकि झारखंड विकास मोर्चा ने रांची विधानसभा सीट से सुनील कुमार गुप्ता को अपना उम्मीदवार बनाया है. सुनील गुप्ता ने कहा कि जनता के बीच जाकर रांची की दुर्दशा को बताने का काम करेंगे. रांची में शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, नाली की व्यवस्था का हाल दयनीय है. जनता का आशीर्वाद मुझे मिलेगा और रांची की सूरत बदलेगी.

वहीं, चेंबर ऑफ कॉमर्स ने पवन शर्मा को अपना उम्मीदवार बनाया हैं. निर्दलीय प्रत्याशी पवन शर्मा ने कहा कि जनता का आशीर्वाद मुझे मिलेगा और जनता की आकांक्षा पर खरा उतरूंगा.

जाहिर है रांची विधानसभा सीट की लड़ाई काफी दिलचस्प हो चुकी है. एक ओर जहां 5 बार इस विधानसभा का प्रतिनिधित्व करने वाले नगर विकास मंत्री सीपी सिंह छठी बार भी विधानसभा चुनाव के मैदान में हैं. तो वहीं, गठबंधन की उम्मीदवार महुआ माजी और अन्य दलों के नेता इस चुनावी मैदान को रोमांचक बनाने में जुटे हुए हैं.