टिकट बेचने के आरोप पर हेमंत सोरेन पर चौतरफा हमला, CM रघुवर ने भी साधा निशाना

चक्रधरपुर के विधायक शशिभूषण सामड के द्वारा हेमंत सोरेन पर लगाये गए टिकट बेचने के आरोप के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन पर चौतरफा हमला शुरू हो गया है.

टिकट बेचने के आरोप पर हेमंत सोरेन पर चौतरफा हमला, CM रघुवर ने भी साधा निशाना
हेमंत सोरेन पर चौतरफा हमला. (फाइल फोटो)

चाईबासा: चक्रधरपुर के विधायक शशिभूषण सामड के द्वारा हेमंत सोरेन पर लगाये गए टिकट बेचने के आरोप के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन पर चौतरफा हमला शुरू हो गया है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष से लेकर सीएम रघुवर दास अब इस मामले में हेमंत सोरेन को घेरने लगे हैं.

यही नहीं, झामुमो के पूर्व नेता रामलाल मुंडा (जो इस चुनाव में आजसू के टिकट पर चक्रधरपुर से चुनाव लड़ रहे हैं) ने भी हेमंत सोरेन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. झामुमो के मुखिया पर चौतरफा हमले से चुनावी माहौल से सियासी गलियारों में हडकंप मच गया है.

ये भी पढ़ें- झारखंड चुनाव LIVE: 13 विधानसभा सीटों पर बंपर वोटिंग, 11 बजे तक 25.23 प्रतिशत मतदान

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ ने कहा है कि विधायक शशिभूषण सामड के द्वारा हेमंत सोरेन पर लगाए गए टिकट बेचने के आरोप में काफी दम लगता है. प्रदेश अध्यक्ष ने माना की एक सिटिंग और लोकप्रिय विधायक का टिकट काटना कई संदेह पैदा करता है.

वहीं, मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस मामले में हेमंत सोरेन को घेरा है. उन्होंने चक्रधरपुर के चुनावी सभा में कहा कि झामुमो मुद्रा मोचन पार्टी है. बाप और बेटे ने मिलकर पहले राज्य को कांग्रेस के हाथों बेचा था. अब टिकट बेच रहे हैं. चक्रधरपुर के सिटिंग विधायक ने हेमंत सोरेन पर आरोप लगाकर इसे सिद्ध कर दिया है.

इधर 2014 के विधानसभा चुनाव में झामुमो से टिकट नहीं मिलने पर फूट-फूट कर रोये रामलाल मुंडा ने भी अपनी चुप्पी तोड़ दी है. बता दें कि रामलाल मुंडा इस बार आजसू के टिकट पर चक्रधरपुर विधानसभा में चुनाव लड़ रहे हैं. रामलाल मुंडा ने कहा कि झारखण्ड मुक्ति मोर्चा आदिवासियों का हितैषी बनने का ढोंग करती है. झामुमो ने मेरा भी टिकट 2014 में बेच दिया था. बाप और बेटे ने मिलकर झारखंड तक को बेचने का काम किया है. हेमंत सोरेन ने आदिवासी की जमीन तक हड़प ली है.  

इन आरोपों के इतर झामुमो के मझगांव विधायक निरल पूर्ति ने हेमंत सोरेन का बचाव किया है. उन्होंने कहा है की पार्टी के केन्द्रीय कार्यकारी अध्यक्ष ने टिकट काटा है तो कुछ सोच समझकर ही काटा है. हालांकि टिकट काटने के फैसले पर निरम पूर्ति कोई तर्क नहीं दे पाए.

मालूम हो कि चक्रधरपुर विधायक शशिभूषण सामड ने झामुमो कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन पर भरी सभा में उनका टिकट 50 लाख में बेचने का आरोप लगाया था. यही नहीं शशिभूषण ने यह भी आरोप लगाया था कि लोकसभा चुनाव में भी हेमंत ने सिंहभूम सीट कांग्रेस को छह करोड़ में बेच दी थी.