Jharkhand Assembly Elections: गढ़वा विधानसभा सीट पर त्रिकोणीय संघर्ष की संभावना

पहले चरण के मतदान के लिए गढ़वा विधानसभा में भी सियासी बिसात बिछ चुका है. यूं तो गढ़वा विधानसभा में कुल 16 उम्मीदवार मैदान में है, लेकिन मुख्य रुप से मुकाबला तिकोना होता दिख रहा है.

Jharkhand Assembly Elections: गढ़वा विधानसभा सीट पर त्रिकोणीय संघर्ष की संभावना
गढ़वा विधानसभा सीट पर त्रिकोणीय संघर्ष. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

गढ़वा: झारखंड के गढ़वा विधानसभा में पहले चरण में वोट डाला जाना है. यहां से बीजेपी ने एक बार फिर सतेंद्र तिवारी को उम्मीदवार बनाया है तो महागठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर जेएमएम ने मिथलेश ठाकुर पर ही एक बार फिर दांव लगाया है. जेवीएम ने भी सूरज गुप्ता को अपने उम्मीदवार के तौर पर मैदान में उतारकर मुलाबले को रोचक बना दिया है. विपक्ष गढ़वा में बिजली की किल्लत, अब तक बाईपास नहीं बनने, पलामू प्रमंडल के साथ भेदभाव करने सहित कई मुद्दों पर वर्तमान विधायक को घेरने में जुटा है.

पहले चरण के मतदान के लिए गढ़वा विधानसभा में भी सियासी बिसात बिछ चुका है. यूं तो गढ़वा विधानसभा में कुल 16 उम्मीदवार मैदान में है, लेकिन मुख्य रुप से मुकाबला तिकोना होता दिख रहा है.

गढ़वा में मुख्य मुद्दा बाईपास का निर्माण, सिंचाई की समस्या दूर करना, उच्च शिक्षा में बेहतर करना, पलायन और बेरोजगारी को दूर करना है. यहां से वर्तमान विधायक सतेंद्र तिवारी को ही एकबार फिर बीजेपी ने मैदान में उतारा है. उन्हें अपने काम पर भरोसा है. उनका कहना है कि यहां से अपराध को समाप्त किया है. नक्सलवाद पर काबू पाने का काम किया है.

चुनावी मैदान में एकबार फिर जेएमएम के टिकट पर मुकाबला कर रहे गठबंधन के उम्मीदवार मिथिलेश ठाकुर हैं तो जेवीएम ने सूरज गुप्ता को मुकाबले को दिलचस्प बनाने के लिए मैदान में उतार दिया है. मिथिलेश ठाकुर को भरोसा है इसबार जनता बदलाव करेगी. इसलिए वह जहां भी जाते हैं बीजेपी उम्मीदवार पर निशाना साधने से नहीं चूकते हैं. दूसरी तरफ गढ़वा से जेवीएम उम्मीदवार सूरज गुप्ता बाबूलाल मरांडी के काम पर जनता से समर्थन मांगते हैं. सुरज गुप्ता धनबल के इस्तेमाल का आरोप लगाते हैं.

इसबार गढ़वा का मुकाबला बेहद दिलचस्प होता जा रहा है. यहां पहले चरण में 30 नवम्बर मतदान होना है. उम्मीदवारों के किस्मत का फैसला यहां की जनता को करना है. सभी उम्मीदवार मैदान में जोर आजमाइश भी कर रहे हैं.