close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो पढ़िये यह खबर, डिलीवर पैकेट खोलने से पहले रखें यह ध्यान

बदलते दौर में खरीदारी करने का तरीका भी पूरी तरह से बदल गया है लोग अब दुकान पर ना जाकर ज्यादा से ज्यादा चीजें ऑनलाइन खरीद रहे हैं लेकिन इस ऑनलाइन खरीदारी में जितना सहूलियत और आसानी है उतनी ही बड़ी मुश्किलें भी खड़ी हो सकती है.

अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो पढ़िये यह खबर, डिलीवर पैकेट खोलने से पहले रखें यह ध्यान
ऑनलाइन शॉपिंग में प्रोडक्ट को लेकर सतर्क रहना जरूरी है.(फोटोः प्रतीकात्मक)

सनी शरद, रांचीः इन दिनों ऑनलाइन शॉपिंग का चलन काफी बढ़ गया है. यह केवल अब शहर तक ही नहीं बल्कि गांव और कस्बों तक पहुंच चुका है. हालांकि ऑनलाइन शॉपिंग लोगों को काफी सहुलियत देती है. लेकिन यह जरूरी नहीं है कि जो आपने ऑनलाइन प्रोडक्ट देखकर जो खरीदारी की थी वही प्रोडक्ट आपको कंपनी से भेजा जाए. ऐसी सैकड़ों घटनाएं सामने आयी है कि उपभोक्ता खरीदारी कुछ करता है और उसके जगह कुछ और ही कंपनी भेजती है. इसलिए ऑनलाइन खरीदारी में ऐसा खतरा बना रहता है.

बदलते दौर में खरीदारी करने का तरीका भी पूरी तरह से बदल गया है लोग अब दुकान पर ना जाकर ज्यादा से ज्यादा चीजें ऑनलाइन खरीद रहे हैं लेकिन इस ऑनलाइन खरीदारी में जितना सहूलियत और आसानी है उतनी ही बड़ी मुश्किलें भी खड़ी हो सकती है.

ऐसा ही मामला झारखंड की राजधानी रांची में आया है. एक युवक ने यहां फ्लिपकार्ट से MI कंपनी की मोबाइल ऑडर्र किया था. लेकिन कंपनी ने जब प्रोडक्ट भेजा तो डब्बा तो जरूर MI फोन का था लेकिन उसके अंदर मोबाइल फोन के बजाय तीन लाइफबॉय साबुन निकला.

Jharkhand Flipkart send soap insted of mobile

रांची के हरमू के रहने वाले सुधीर कुमार शर्मा ने फ्लिपकार्ट से रेडमी नॉट 5 फोन की बुकिंग 9,999 रुपये में की थी. डिलीवरी तीन दिन में कर दी गई और पेमेंट भी पहले कराया गया. लेकिन जब मोबाइल फोन का डब्बा खोला गया तो सुधीर के होश उड़ गए. मोबाइल फोन के डब्बे के अंदर 3 लाइफबॉय साबुन रखा था.

Jharkhand Flipkart send soap insted of mobile

हालांकि सुधीर ऑनलाइन शॉपिंग अक्सर करता था. इसलिए वह इस खतरे को जानता था. इसलिए उसने सर्तकता बरतते हुए कंपनी के सील पैकेट को खोलने से पहले उसने पैकेट खोलने का एक वीडियो बनाया. घटना के बाद उसने फ्लिपकार्ट से शिकायत की है. शिकायत के बाद कंपनी ने ट्वीट के जरिए सुधीर को भरोसा दिलाया कि इस मामले में 24 घंटे में कार्रवाई की जाएगी. लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि अगर सुधीर ने पैकेट खोलने का वीडियो नहीं बनाया होता तो क्या कंपनी उसकी बात को सच मानती. ऐसे में कंपनी हजारों कस्टमर्स के साथ धोखाधड़ी का खेल खेलती होगी. इसलिए ऑनलाइन प्रोडक्ट खरीदने से पहले लोगों को शर्तकता बरतनी जरूरी है.