झारखंड: मंत्री-विधायकों को बांटा गया आवास, 20 साल बाद सीपी सिंह खाली करेंगे बंगला

ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम और श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता को पहले ही आवास आवंटित किया जा चुका है. इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है.

झारखंड: मंत्री-विधायकों को बांटा गया आवास, 20 साल बाद सीपी सिंह खाली करेंगे बंगला
झारखंड सरकार ने 8 मंत्रियों समेत 34 विधायकों को आवास आवंटित कर दिया है.

रांची: झारखंड सरकार ने 8 मंत्रियों समेत 34 विधायकों को आवास आवंटित कर दिया है. ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम और श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता को पहले ही आवास आवंटित किया जा चुका है. इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है.

आवास आवंटन के बाद विधायक सीपी सिंह को 20 साल बाद और सुदेश महतो को 10 साल बाद अपना आलीशान बंगला छोड़ना होगा. झारखंड गठन के बाद विधानसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक बनने पर सीपी सिंह को पुराना मुख्य अभियंता कार्यालय भवन आवंटित हुआ था तब से वह इसी आवास में रह रहे थे.

वहीं, दूसरे आवास आवंटित किए जाने पर सीपी सिंह का दर्द सामने आ गया. झारखंड सरकार पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि बदले की भावना के तहत सरकार ऐसी कार्रवाई कर रही है. क्योंकि रांची के वह विधायक हैं बावजूद उन्हें खिजरी विधानसभा में आवास आवंटित किया गया है.

वहीं उन्होंने कहा कि अगर रांची में आवाज नहीं होता तो कोई बात होती लेकिन रांची में आवास होने के बावजूद उन्हें जो आवाज दिया गया है वह खिचड़ी विधानसभा के अंतर्गत आता है. अब अगर रांची के लोगों को कुछ भी काम पड़ेगा तो उन्हें सेक्टर जाना पड़ेगा जिससे उन्हें काफी परेशानी होगी.