close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड: बढ़े ट्रैफिक चालान में ढील देने की तैयारी में रघुवर सरकार, मंत्री ने दिए संकेत

केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से संशोधित किए गए मोटर व्हीकल एक्ट में झारखंड (Jharkhand) में संशोधन की उम्मीद दिखने लगी है.

झारखंड: बढ़े ट्रैफिक चालान में ढील देने की तैयारी में रघुवर सरकार, मंत्री ने दिए संकेत
झारखंड में ढील देने की तैयारी में रघुवर सरकार. (फाइल फोटो)

रांची: केंद्र सरकार की ओर से संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट (New Traffic Rules) को झारखंड में सख्ती से लागू किया गया. पुलिस और पब्लिक के बीच टकराव की भी खबरें ने खूब सुर्खियां बटोरी, लेकिन अब ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर ने इस एक्ट में ढील देने की बात कही है, जिसपर राजनीति शुरू हो गई है.

केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से संशोधित किए गए मोटर व्हीकल एक्ट में झारखंड (Jharkhand) में संशोधन की उम्मीद दिखने लगी है. लोगों की परेशानी को आधार बनाते हुए नगर विकास एवं परिवहन मंत्री ने कहा कि झारखंड में सामाधान निकालने की दिशा में में हम लगे हुए हैं. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि संसोधन की दिशा में कानून का भी सम्मान रखा जाएगा.

लाइव टीवी देखें-:

परिवहन मंत्री द्वारा दिए गए बयान पर चुटकी लेते हुए झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने इसे हास्यासपद बताया है. उनका कहना है कि जिस वक्त यह लागू हुआ था उस वक्त भी सीपी सिंह ने कहा था कि उन्हें संज्ञान में नहीं लिया गया. लेकिन अब जब आटे दाल का भाव समझ आ रहा है तो महाराष्ट्र और गुजरात की तर्ज पर इसे वापस करने की बात कही जा रही है.

उन्होंने कहा कि आपके पास इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं है. प्रदूषण जांच केंद्र पर लंबी-लंबी कतारें लगी हैं. इंश्योरेंस की क्या स्थिति है हम सभी जानते हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ऐसा कर लोगों से रंगदारी वसूल रही है. पुलिस का व्यवहार भी ठीक नहीं है. अब जब लोगों को गुस्सा आया है तो सरकार को मानना पड़ रहा है कि उसकी गलती है.

वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय ने केंद्र सरकार की हर योजना को ही आड़े हाथों लिया है. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने जितने भी कानून बनाए हैं वह विवेकहीनता का प्रतीक है. सुबोध कांत सहाय ने कटाक्ष करते हुए कहा कि यह बेईमान सोच के लोगों का राज है, इसीलिए यहां कुछ भी हो रहा है. वहीं, उन्होंने कहा कि परिवहन मंत्री का बयान देखा है, जिसमें उन्होंने कहा कि चुनाव तक इसे बंद किया जा रहा है. इसपर भी सुबोध कांत सहाय ने कटाक्ष किया है.

कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने परिवहन मंत्री की तरफ से इस नरमी को अपनी जीत बताते हुए कहा कि जिस तरह से कांग्रेस ने मोटर व्हीकल एक्ट का विरोध किया, उसी का यह असर है कि सरकार को अपना कदम पीछे खीचने पड़ा.