close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बोकारो: किसानों को दीपावली से पहले तोहफा, कृषि आशीर्वाद योजना की पहली किस्त जारी

रघुबार दास सरकार ने मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना की पहली किस्त बचे हुए किसानों के खातों में डीबीटी के माध्यम से भेज दी. इस राशि को भेजे जाने से 23,776 किसानों को सीधा लाभा पहुंचा है.

बोकारो: किसानों को दीपावली से पहले तोहफा, कृषि आशीर्वाद योजना की पहली किस्त जारी
झारखंड सरकार ने मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना की पहली किस्त भेजी

बोकारो: दीपावली के पहले झारखंड सरकार ने किसानों को बड़ा तोहफा दिया है. सरकार ने मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना (Krishi Ashirvaad Yojna)  कें अंतर्गत 23,776 किसानों के खातों में प्रथम किस्त की पहली राशि डीबीटी (DBT) के माध्यम से भेज दी. 

'किसानों के लिए पेश किया गया अलग से बजट'
गुरुवार को बोकारो क्लब में आयोजित राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना कार्यक्रम का शुभारंभ झारखंड सरकार में राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री अमर कुमार बाउरी (Amar Kumar Bauri) ने किया. बाउरी ने कहा कि झारखंड देश का पहला ऐसा राज्य जहां किसानों की मदद के लिए अलग से बजट पेश किया गया है.

'दीपावली के पहले मिल जाएगी दूसरी किस्त'
मंत्री ने कहा कि किसान देश की रीढ़ है और इन्हें मज़बूत करना राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता है. उन्होंने कहा कि सरकार लगातार किसानों की मदद के लिए पहल एंव प्रयास कर रही है. बाउरी ने कहा कि छूटे हुए सभी 23776 किसानों के खाते में आज प्रथम किस्त की राशि गई है. वहीं, दीपावली से पहले दूसरी किस्त का 25 प्रतिशत जिले के किसानों को उनके खाते में प्राप्त होगा। बाकि बची हुई राशि को नवंबर-दिसंबर तक तीसरे किस्त के रूप में किसानों को डीबीटी के माध्यम से दिया जायेगा.

'किसान हमारे अन्नदाता और भारत के भाग्य विधाता हैं'
खेती के महत्व पर प्रकाश डालते हुए अमर कुमार बाउरी ने कहा कि इंसान कितनी भी प्रगति क्यों ना कर ले, उसे दिन में तीन वक्त का भोजन चाहिए ही होता है. उन्होंने कहा कि अन्न की पैदावार में हमारे देश के किसान का बहुत अहम किरदार हैं. बाउरी ने आगे कहा कि कोई फैक्ट्री नहीं है, जहां अनाज उगाया जा सकता है। इसलिए हमें अपने किसानों को, जो हमारे अन्नदाता हैं भारत के भाग्य विधाता हैं, उन्हें सुदृढ़ करने की आवश्यकता है.

किसानों को पानी संययन करने के लिए किया प्रेरित
मंत्री ने कहा कि झारखंड सरकार ने कुछ किसानों को खेती के गुर सीखने के लिए इजरायल (Israel) भेजा था और आगे भी इस प्रकार के कई कदम उठाए जाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने सभी किसानों को बारिश के पानी के संचयन (Storage) के महत्व के बारे में भी समझाते हुए उन्हें जल छाजन (Rain water harvesting)  के विभिन्न माध्यमों को अपनाने के लिए प्रेरित किया.

'राज्य सरकार की तरफ से किसानों के लिए आशीर्वाद'
डिप्टी कमिश्नर (Deputy Commissioner)  मुकेश कुमार ने कहा कि अभी खेती का सीजन होने की वजह से इस कार्यक्रम को लांच करने का सबसे उचित समय है. इससे किसानों को खाद, बीज पाइप, पंपसेट आदि खरीदने में काफी मदद मिलेगी. कुमार ने कहा कि यह सच में किसानों के लिए राज्य सरकार की ओर से आशीर्वाद है.

बता दें कि मुख्यमंत्री कृषि आर्शिवाद योजना की शुरूआत 10 अगस्त 2019 को की गई थी. उसके बाद से अभी तक कुल 44,762 किसानों को इस योजना से लाभांवित किया जा चुका है. इन सभी किसानों के खाते में 17,68,85,346 रूपए राज्य सरकार की तरफ से डीबीटी के माध्यम से भेजे जा चुके हैं.