झारखंड: स्वच्छ भारत अभियान में अव्वल दर्जा पाने की कोशिशों में जुटा है खूंटी प्रशासन

जिला प्रशासन ने ग्रामीणों के सहयोग से स्वच्छ भारत अभियान में अव्वल दर्जा पाने की ठान रखी है.

झारखंड: स्वच्छ भारत अभियान में अव्वल दर्जा पाने की कोशिशों में जुटा है खूंटी प्रशासन

खूंटी की छवि बदलने वाली है पत्थलगड़ी के कलंक से वो बाहर निकलने को बेताब है. जिला प्रशासन ने ग्रामीणों के सहयोग से स्वच्छ भारत अभियान में अव्वल दर्जा पाने की ठान रखी है.  इसके लिए एक कार्यशाला का आयोजन किया गया. 

बस एक महीने बात है राज्य के खूंटी की पहचान स्वच्छता के क्षेत्र में अव्वल होगा. जी हां...यही संकल्प जिला प्रशासन ने लिया है. इस बावत पंचायत प्रतिनिधियों और जल सहिया समेत अन्य कर्मचारियों को युद्ध स्तर पर शौचालय निर्णाण और जल सहिया समेत अन्य कर्मचारियों को ग्रामीण हाट बाजारों के कचरे को निबटाने की तरकीब बताई गई.

पेयजल स्वच्छता विभाग को इसमें सहयोग करने की जिम्मेवारी सौंपी गई है जो ग्रामीण इलाकों के मंदिर-मस्जिद और गिरजाघरों में शौचालय और पेयजल की व्यवस्था को लेकर भी जिला प्रशासन प्रबंधन समिति से पूछताछ करेगी. 30 अगस्त तक का टास्क दिया गया है.

खूंटी इन दिनों गांव-गलियों सड़कों और आबोहवा की सफाई के मिशन में जुटा है.

(Exclusive Feature)