डिजिटल इंडिया की तरफ कदम बढ़ाता झारखंड का लोहरदगा जिला, DTO हुआ कैशलेस

परिवहन कार्यालय के ऑनलाइन होने का ही असर है कि डीटीओ कार्यालय से भीड़ गायब हो गई है.

डिजिटल इंडिया की तरफ कदम बढ़ाता झारखंड का लोहरदगा जिला, DTO हुआ कैशलेस
परिवहन विभाग के कैशलेस होने के बाद ड्राइविंग लाईसेंस बनाने वालों का बैंक खाता होना जरूरी हो गया है

रांची : सरकार की सार्थक पहल से लोहरदगा जिला परिवहन कार्यालय कैशलेस हो गया है. कैशलेस व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए परिवहन विभाग ने कई बैंक से करार कर ईपॉश मशीन की सुविधा उपलब्ध कराई है, जिससे घर बैठे ही कोई भी किसी भी तरह का भुगतान ऑनलाइन कर सकता है.

रघुवर सरकार की पहल से जिला परिवहन कार्यालय में अब नगदी लेन-देन की कोई व्यवस्था नहीं है सारे काम अब कैशलेस हो गए हैं. यानी परिवहन कार्यालय द्वारा ड्राईविंग लाइसेंस, वाहन रजिस्ट्रेशन, नाम ट्रांसफर, नवीकरण की सुविधा के साथ-साथ वाहनों के जुर्माने की राशि को कैशलेस व्यवस्था के तहत लाया गया है. इस व्यवस्था से आम लोगों के साथ-साथ वाहन संचालकों को भी सहूलियत मिली है.

ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट आए एक व्यक्ति ने बताया कि पहले किसी भी काम के लिए फिस जमा करने के लिए लंबी लाइन लगा करती थी, लेकिन अब यह काम बड़ी ही आसानी से हो रहा है.

परिवहन कार्यालय के ऑनलाइन होने का ही असर है कि डीटीओ कार्यालय से भीड़ गायब हो गई है. ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अब घर बैठे ऑनलाइन आवेदन दिया जा सकता है और आवेदन के बाद मैसेज आने पर डीटीओ कार्यालय जाकर कैशलेस पेमेंट की जाती है. परिवहन विभाग के कैशलेस होने के बाद ड्राइविंग लाईसेंस बनाने वालों का बैंक खाता होना जरूरी हो गया है, जिसके एटीएम के जरिए आवेदक अपना भुगतान कर पाएंगे.

डिजिटल इंडिया की ओर लोहरदगा परिवहन विभाग ने कदम बढाया है और आज परिवहन कार्यालय पूरी तरह से कैशलेस हो गया है. और ये सब हुआ है रघुवर सरकार के सार्थक पहल से.

(एक्सक्लूसिव फीचर)