लखीमपुर खीरी घटना: विरोध में उतरा नक्सली संगठन, बिहार-झारखंड समेत 2 राज्यों में बंद का ऐलान
X

लखीमपुर खीरी घटना: विरोध में उतरा नक्सली संगठन, बिहार-झारखंड समेत 2 राज्यों में बंद का ऐलान

सीपीआई माओवादी के लेटरहेड पर संगठन के प्रवक्ता मानस की ओर से जारी प्रेस नोट में बताया गया है कि आवश्यक सेवाओं यथा पानी, दवा, एंबुलेंस, अग्निशमन दस्ते आदि को बंद से मुक्त रखा गया है. इधर, नक्सलियों के बंद के एलान को लेकर झारखंड-बिहार दोनों राज्यों की पुलिस ने विशेष अलर्ट जारी किया है.

 

लखीमपुर खीरी घटना: विरोध में उतरा नक्सली संगठन, बिहार-झारखंड समेत 2 राज्यों में बंद का ऐलान

Ranchi: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में प्रदर्शनकारी किसानों को गाड़ी से कुचलने की घटना के विरोध में नक्सली संगठन सीपीआई माओवादी (Communist Party of India (Maoist)) ने 17 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और उत्तरी छत्तीसगढ़ में बंद का एलान किया है. 

झारखंड-बिहार की पुलिस ने जारी किया विशेष अलर्ट
सीपीआई माओवादी के लेटरहेड पर संगठन के प्रवक्ता मानस की ओर से जारी प्रेस नोट में बताया गया है कि आवश्यक सेवाओं यथा पानी, दवा, एंबुलेंस, अग्निशमन दस्ते आदि को बंद से मुक्त रखा गया है. इधर, नक्सलियों के बंद के एलान को लेकर झारखंड-बिहार दोनों राज्यों की पुलिस ने विशेष अलर्ट जारी किया है.

ये भी पढ़ें- झारखंड में अंधविश्वास का 'गंदा खेल' जारी! नरबलि के नाम पर 3 लोगों की हत्या

जिलों की पुलिस को चौकसी बरतने के निर्देश 
झारखंड पुलिस मुख्यालय से जिलों की पुलिस को निर्देश जारी कर चौकसी बरतने, हाइवे पर विशेष पेट्रोलिंग दलों को तैनात करने और नक्सल प्रभावित संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती सुनिश्चित करने को कहा गया है.

16 अक्टूबर की रात 12 बजे से शुरू होगा बंद 
जानकारी के अनुसार, नक्सलियों का बंद 16 अक्टूबर की रात 12 बजे से ही शुरू हो जाएगा. इस बीच रेल पुलिस ने भी नक्सल प्रभावित इलाकों से गुजरने वाले रेलखंडों की निगरानी बढ़ा दी है. बता दें कि इसके पूर्व नक्सलियों द्वारा बुलाए गए बंद के दौरान अक्सर रेल पटरियों को निशाना बनाए जाने की कई घटनाएं हुई हैं.

ये भी पढ़ें- पलामू में डायन बिसाही के नाम पर फिर खेला गया खूनी खेल, मां-बेटे की बेरहमी से हत्या

इंटेलिजेंस ब्यूरो (Intelligence Bureau) ने भी झारखंड में जिलों की पुलिस को अलर्ट रहने को कहा है. झारखंड-छत्तीसगढ़ के जंगलों में हाल के दिनों में नक्सलियों की धमक फिर तेज हुई है.

(इनपुट- आईएएनएस)

Trending news