बिहार: प्याज की बढ़ती कीमतों पर जीतन राम मांझी ने मांगा रामविलास पासवान से इस्तीफा

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने बढ़ती प्याज की कीमत का जिम्मेदार खाद्य आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान को बताया है. जीतन राम मांझी की माने जानबूझकर प्याज को सड़ा दिया गया है ताकि बिचौलियों को फायदा हो और फायदा पहुंचाने के लिए रामविलास पासवान ने ऐसा किया है.   

बिहार: प्याज की बढ़ती कीमतों पर जीतन राम मांझी ने मांगा रामविलास पासवान से इस्तीफा
जीतन राम मांझी ने बढ़ती प्याज की कीमत का जिम्मेदार खाद्य आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान को बताया है. (फाइल फोटो)

पटना: प्याज की कीमत में बेतहाशा वृद्धि हो रही है जिसे लेकर बिहार में राजनीति भी शुरू हो गई है. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने बढ़ती प्याज की कीमत का जिम्मेदार खाद्य आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान को बताया है. जीतन राम मांझी की माने जानबूझकर प्याज को सड़ा दिया गया है ताकि बिचौलियों को फायदा हो और फायदा पहुंचाने के लिए रामविलास पासवान ने ऐसा किया है. 

साथ ही उन्होंने कहा है कि अभी प्याज 80 से 100 रुपये किलो प्याज है तो रामविलास पासवान का अब खेल देखना चाहिए और बढ़ती महंगाई की नैतिक  जिम्मेदारी लेते हुए रामविलास पासवान को इस्तीफा देना चाहिए.

रामविलास पासवान पर दिए गए जीतन राम मांझी के बयान का आरजेडी के एमएलसी सुबोध राय ने समर्थन किया है और कहा है कि पहले नीतीश कुमार को इस्तीफा देना चाहिए क्योंकि राज्य सरकार का कंट्रोल खत्म हो चुका है. साथ ही रामविलास पासवान को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देना चाहिए क्योंकि कितनी सरकारें प्याज की बढ़ती कीमत को लेकर गिर गई है बिचौलिया के साथ रामविलास पासवान का जो सांठगांठ है इसको देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रामविलास पासवान को बर्खास्त कर देना चाहिए.

आरएलएसपी के प्रवक्ता माधव आनंद ने कहा कि दिल्ली की सरकार प्याज की बढ़ती कीमत को लेकर गिरी थी और आज जो प्याज की कीमत आसमान छू रहा है और रामविलास पासवान बेतुका बयान दे रहे हैं. रामविलास पासवान को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करें क्योंकि चुनाव का वक्त है और पासवान सेटिंग कर लिए हैं ताकि फंड अधिक से अधिक आए.

वहीं, बीजेपी एमएलसी नवल यादव ने कहा है कि जीतन राम मांझी की बात रामविलास पासवान से हो गई है क्या? जीतन राम मांझी पेंडुलम की तरह लटके हुए हैं, न इधर के न उधर के हैं. कोई पूछता नहीं है तिरस्कार की जिंदगी राजनीति में जी रहे हैं. 

वहीं, जेडीयू के प्रवक्ता निखिल आंनद ने कहा की जीतन राम मांझी फूहड़ बयान देने के लिए ही जाने जाते है तो उनके बयान को कोई भी गंभीरता से नहीं लेता है. प्याज के दाम निश्चित रूप से बढ़े हैं. रामविलास पासवान को अपने काम के लिए जाना जाता है और जिस विभाग में मंत्री रहे हैं कि अच्छा काम किए हैं.