close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'वर्तमान सरकार में निष्पक्ष जांच संभव नहीं, लागू हो राष्ट्रपति शासन'- जीतनराम मांझी

जीतनराम मांझी ने सृजन घोटाले में निष्पक्ष जांच को लेकर आशंका जताई है. और कहा है वर्तमान सरकार में निष्पक्ष जांच संभव नहीं है.

'वर्तमान सरकार में निष्पक्ष जांच संभव नहीं, लागू हो राष्ट्रपति शासन'- जीतनराम मांझी
जीतनराम मांझी ने निष्पक्ष जांच के लिए राष्ट्रपति शासन की मांग की है. (फाइल फोटो)

बक्सरः बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की बहन रेखा मोदी के घर पर गुरुवार को इनकम टैक्स विभाग की टीम ने छापेमारी की थी. बताया जाता है कि इनकम टैक्स विभाग की टीम रेखा मोदी के घर सृजन घोटाले मामले में जांच के लिए पहुंची थी. आईटी ने राजधानी पटना स्थित फ्लैट पर छापेमारी की थी. वहीं, जीतनराम मांझी ने सृजन घोटाले में निष्पक्ष जांच को लेकर आशंका जताई है. और कहा है वर्तमान सरकार में निष्पक्ष जांच संभव नहीं है.

आईटी की टीम जांच के बाद वहां से चली गई. हालांकि इस बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई है कि आईटी ने रेखा मोदी के घर पर किसी तरह की पूछताछ की है. साथ ही क्या उनके घर से किसी तरह के दस्तावेज भी मिले हैं. ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है.

Jitan Ram manjhi said in present government Unbiased inquiry not possible

हालांकि अब इस पर बिहार में राजनीति शुरू हो चुकी है. आईटी रेड के बाद विपक्ष सुशील मोदी पर निशाना साध रहा है. आरोप लगाया जा रहा है कि रेखा मोदी के जरिए करोड़ों रुपये की हेराफेरी की गई है. हालांकि सुशील मोदी ने पहले ही कहा था कि सृजन घोटाले में उनका और उनके परिवार के सदस्य का कोई लेना देना नहीं है.

Jitan Ram manjhi said in present government Unbiased inquiry not possible

वहीं, सुशील मोदी ने गुरुवार को एक बार फिर सफाई देते हुए कहा था कि रेखा मोदी से उनका कोई लेने देन या वित्तीय संबंध नहीं है. और वह उनसे पिछले 10 सालों से मुलाकात नहीं की है. वह अपने भाई के साथ कई आपराधिक और सिविल मामलों में शामिल हैं. 

अब इस मामले में विपक्षी पार्टी हम के नेता जीतनराम मांझी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि वर्तमान सरकार में निष्पक्ष जांच संभव नहीं है. उन्होंने कहा कि सरकार बड़ी मछलियों को छोड़कर छोटी मछलियों का शिकार कर रही है. सृजन घोटाला बिहार का सबसे बड़ा घोटाला है. इसलिए वर्तमान सरकार में जांच संभव नहीं है.

उन्होंने निष्पक्ष जांच के लिए सरकार को बर्खास्त करते हुए राष्ट्रपति शासन की मांग की है. उन्होंने कहा कि असली गुनहगारों को बचाया जा रहा है.