close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नीतीश कुमार अगर महागठबंधन में आते हैं तो परहेज नहीं : जीतन राम मांझी

जीतन राम मांझी ने कहा कि जेडीयू की इफ्तार पार्टी में हाथ मिलाए गए, गले लगे, लेकिन इसका राजनीतिक अर्थ नहीं निकालना चाहिए.

नीतीश कुमार अगर महागठबंधन में आते हैं तो परहेज नहीं : जीतन राम मांझी
ईफ्तार पार्टी में गले मिले थे जीतन राम मांझी. (फाइल फोटो)

गया : बिहार के गया में अपने आवास पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि होली और ईद ये सभी मिलन का पर्व होता है. इफ्तार पार्टी में सभी लोगों को बुलाते हैं. यह बात भी सही है कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने हमें नहीं बुलाया तो हमने भी उन्हें नहीं बुलाया. साथ ही उन्होंने कहा कि जेडीयू की इफ्तार में शामिल होने के लिए उन्हें फोन किया गया था. साथ ही आमंत्रण भी भेजा गया था.

साथ ही जीतनराम मांझी ने कहा कि जेडीयू की इफ्तार पार्टी में हाथ मिलाए गए, गले लगे, लेकिन इसका राजनीतिक अर्थ नहीं निकालना चाहिए.

उन्होंने कहा कि बीजेपी की नीति सही नहीं है. धारा 370, 35ए, कॉमन सिविल कोड, विशेष राज्य का दर्जा और तीन तलाक के मुद्दे पर हर परिस्थिति में वह नीतीश कुमार के साथ हैं.

साथ ही मांझी ने कहा कि राजनीति में कभी भी कुछ भी हो सकता है. एक समय ऐसा भी आ सकता है कि बीजेपी उनसे समर्थन वापस ले सकती है. अगर स्पष्ट तौर से हमलोग से सहयोग मांगते हैं तो महागठबंधन के लोग सहयोग कर सकते हैं.
 
गिरिराज सिंह के ट्वीट पर उन्होंने कहा कि उनकी सोच सिर्फ हिंदूवादी है. हिंदुस्तान की संस्कृति ऐसी है कि हम हर पर्व मनाते हैं. हिंदुस्तान में हर धर्म के लोग रहते हैं. अगर सिर्फ हिंदू की बात करेंगे तो देश और संविधान के लिए खतरे की बात है. बीजेपी के आलाकमान इस तरह के बयानबाजी से उन्हें परहेज कराएं.

मांझी ने कहा कि अगर नीतीश कुमार महागठबंधन में आते हैं या सहयोग चाहते हैं तो उनको साथ देने में कोई परहेज नहीं है. रही बात तेजस्वी यादव की तो वह पटना में नहीं हैं. इस पर उनकी क्या राय है पता नहीं, लेकिन राबड़ी देवी और रघुवंश प्रसाद बोले हैं कि सभी मुद्दों पर साथ होकर चलना चाहते हैं तो नीतीश कुमार के साथ चलने के लिए तैयार हैं.